कश्मीर में पीएम मोदी ने की बैठक, जानिए किन -किन विषयों पर हुई बात ?

रिपोर्ट- भारती बघेल

जम्मू कश्मीर से 370 हटने के बाद केंद्र सरकार ने पहली बार राज्य सरकार से मुलाकात की…पीएम मोदी ने 24 जून 2021 को ये बैठक की…आपको बता दें कि इस बैठक में 8 दलों के 14 नेता शामिल थे…ये बैठक करीब साढ़े तीन घंटे तक चली…जहां एक तरफ बैठक में गुलाब नबी आजाद, फारुक अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती, उमर अबदुल्ला, कवींद्र गुप्ता, निर्मल सिंह, रवींद्र रैना जैसे दिग्गज नेता शामिल हुए…वहीं दूसरी तरफ गृह मंत्री अमित शाह भी इस बैठक में मौजूद थे…मिली जानकारी के मुताबिक पीएम मोदी ने इस बैठक में जम्मू कश्मीर के विकास समेत परिसीमन और अन्य मुद्दों पर स्थानीय नेताओं से बातचीत की…

—क्या बोले गुलाम नबी आजाद
गुलाब नबी ने कहा कि हमने कांग्रेस की तरफ से सरकार से पांच बड़ी मांगे रखी थीं..जिसमें जो सबसे महत्वपूर्ण थी वो ये कि सरकार राज्य सरकार का दर्ज जल्दी बहाल करे…इसके अलावा बैठक में कश्मीरी पंडितों को घाटी में बसाने की बात भी कही..वहीं एक मांग ये भी रखी है कि केंद्र सरकार जल्दी से जम्मू- कश्मीर में चुनाव करवाए..

—बैठक के बाद अल्ताफ बुखारी का बयान
बैठक के बाद बुखारी ने कहा कि आज बैठक अच्छी गई….जितनी प्रमुखता के साथ लोगों ने अपनी बातें रखीं..उतनी ही गहराई से पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने सबकी बातें सुनीं…साथ ही पीएम मोदी ने यह भी कहा है कि डिलिमिटेशन की प्रक्रिया खत्म होने के बाद चुनाव प्रक्रिया शुरु होगी…

—क्या बोले गृहमंत्री अमित शाह
बैठक खत्म होने के बाद गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि सभी नेताओं को जम्मू कश्मीर के विकास के लिए जानकारी दी गई है..वहीं हमारी सरकार भी जम्मू कश्मीर के विकास के लिए निरंतर प्रयास करती रहेगी…

—जम्मू- कश्मीर में कब हुआ आखिरी बार परिसीमन
जम्मू कश्मीर में लोकसभा सीटों का परिसीमन पूरे देश के साथ होता है, वैसे विधानसभा की सीटों के लिए नहीं होता…आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यहां आखिरी बार परिसीमन 1995 में हुआ था..और इसकी वजह ये थी कि यहां धारा 370 लागू थी जिसके चलते विधानसभी का परिसीमन राज्य का जो संविधान था उसके अनुरुप तय होता था…जम्मी कश्मीर में आजादी के बाद अबतक महज तीन बार विधानसभा चुनाव हुए हैं…

—जम्मू कश्मीर में परिसीमन के बाद क्या बदलेगा
जैसा कि आप जानते हैं कि 5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर से धारा 370 को हटा दिया गया था…जिसके बाद जम्मू कश्मीर पर नए नियन लागू हो गए…इसके चलते केंद्र सरकार अब कभी भी परिसीमन करा सकती है…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *