Friday, July 19, 2024
National

किसानों की मांगें पूरी न होने पर नोएडा, गुरुग्राम और दिल्ली के बॉर्डर पर लगा भीषण जाम अंजाम भुगत रहे दिल्ली NCR के लोग।

Delhi Farmers Protest : एमएसपी पर कानून बनाने सहित अन्य मांगों को लेकर आंदोलनकारी किसानों ने मंगलवार (13 फरवरी) के लिए ‘दिल्ली चलो’ मार्च का एलान किया है। दिल्ली यातायात पुलिस ने इसके मद्देनजर यात्रियों के लिए यातायात सलाह जारी की है। ट्रैफिक प्रतिबंधों के चलते दिल्ली-एनसीआर में लोगों को जाम की स्थिति का सामना करना पड़ रहा है।

Written By: Rishu Pandey, Edited By: Pragya Jha

हाइलाइट्स

1 डीएनडी मार्ग पर बैरिकेडिंग के कारण लगा जाम

2 कुंडली बॉर्डर पर एक-एक लेन खुली, जांच के बाद आवागमन

3 किसानों के दिल्ली कूच के कारण नोएडा में रहेगा डायवर्जन

दिल्ली/नोएडा/गुरुग्राम। फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को लेकर कानून बनाने सहित कई मांगों को लेकर किसान आज मंगलवार को पंजाब-हरियाणा से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की ओर कूच कर रहे हैं। ऐसे में किसानों की दिल्ली में एंट्री रोकने और सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस-प्रशासन ने पुख्ता इंतजाम किए हैं। इसी कड़ी में दिल्ली की सीमाएं सील कर दी गई हैं और कई रास्तों पर ट्रैफिक डायवर्ट किया गया है। ट्रैफिक प्रतिबंधों के चलते दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम, फरीदाबाद सहित एनसीआर के शहरों में लोगों को जाम की स्थिति से जूझना पड़ रहा है।


नोएडा डीएनडी से दिल्ली आने वाले मार्ग पर लगा जाम।


किसानों के प्रदर्शन के चलते डीएनडी फ्लाईवे पर दिल्ली पुलिस द्वारा वाहनों की जांच की जा रही है। इससे मार्ग पर जाम की स्थिति पैदा हो गई है। वाहन रेंग-रेंग कर चलते नजर आ रहे हैं।

एक घंटे बाद खोला गया सिंघु बॉर्डर का रास्ता ।


सिंघु बॉर्डर पर हरियाणा से दिल्ली आने वाले वाहनों के लिए एक घंटे बाद रास्ता खोला गया है। इससे वाहन चालकों ने राहत की सांस ली है। चालक नंदकुमार ने बताया की सिंघु पर एक घंटे से जाम में फंसे हैं। कुंडली से मक्का लेकर बदली के सिरसपुर जा रहे हैं। फ्लाईओवर पर ही रोक दिया गया है । पीछे गाड़ियों की लंबी लाइन लग गई गई। अब यहां से कैसे वापिस जाऊंगा, यह समझ नहीं आ रहा है। मुझे सिरसपुर के बाद आजादपुर सब्जी मंडी से सब्जियां लेकर जाना है। वहां लोग इंतजार कर रहे हैं।

शम्भू बॉर्डर पर किसान व पुलिस आमने-सामने।


मार्च के दौरान पंजाब-हरियाणा के शम्भू बॉर्डर पर किसान व पुलिस आमने-सामने आ गए। उग्र किसानों को रोकने के लिए पुलिस ने उन पर आंसू गैस के गोले छोड़े हैं।


गाजियाबाद पुलिस ने 14 किसान नेताओ को किया नजरबंद।


पुलिस ने किसान आंदोलन को देखते हुए 14 किसान नेताओ को नजरबंद किया है। पुलिस सुबह ही किसानों के घर पहुंच गयी। महिंद्रा एन्क्लेव में मनोज नागर, सरना निवासी प्रमोद त्यागी, नंदग्राम निवासी भूपेंद्र, राजनगर एक्सटेंशन में अवनीत पवार और जेके मलिक समेत 14 नेताओ के घर पुलिस पहुंची है। डीसीपी सिटी ज्ञानंजय सिंह का कहना है कि किसी नेता को नजरबंद नहीं किया गया है। पुलिस एहतियातन निगाह रखे हुए है।


गाजियाबाद पुलिस ने 14 किसान नेताओ को किया नजरबंद


पुलिस ने किसान आंदोलन को देखते हुए 14 किसान नेताओ को नजरबंद किया है। पुलिस सुबह ही किसानों के घर पहुंच गयी। महिंद्रा एन्क्लेव में मनोज नागर, सरना निवासी प्रमोद त्यागी, नंदग्राम निवासी भूपेंद्र, राजनगर एक्सटेंशन में अवनीत पवार और जेके मलिक समेत 14 नेताओ के घर पुलिस पहुंची है। डीसीपी सिटी ज्ञानंजय सिंह का कहना है कि किसी नेता को नजरबंद नहीं किया गया है। पुलिस एहतियातन निगाह रखे हुए है।

डीएनडी का ट्रैफिक दो लेन में बदल गया।


चिल्ला से तीन लेन व कालिंदी और डीएनडी से छह लेन में जाने वाला ट्रैफिक बॉर्डर पर बाटलनेक बनने से दो लेन में बदल गया है। खासतौर से सुबह व्यस्त समय में दिल्ली पुलिस की बॉर्डर पर पहरेदारी के कारण वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। नोएडा से दिल्ली प्रमुख बॉर्डर पर प्रतिदिन दस लाख से अधिक वाहनों की आवाजाही होती है। सबसे ज्यादा दबाव चिल्ला बॉर्डर और कालिंदी कुंज पर रहता है।


बैरिकेड लगने से नोएडा से दिल्ली जाने वाले मार्ग पर लग रहा जाम


नोएडा सीमा में मौजूद यातायात पुलिसकर्मी ट्रैफिक को सामान्य बनाने में लगे हुए हैं। वहीं डीसीपी नोएडा विद्या सागर मिश्र, एडिशनल डीसीपी मनीष मिश्र डीएनडी, चिल्ला बॉर्डर पर पुलिस बल के साथ मौजूद हैं। दिल्ली पुलिस के करीब 50 से अधिक जवान सेक्टर-14 ए स्थित चिल्ला बॉर्डर पर सुबह से नोएडा से दिल्ली से ट्रैक्टर-ट्रालियों के जरिये दिल्ली जाने वालों पर खास नजर रखी जा रही है।


इन चीजों पर होगी पाबंदी दिल्ली में धारा-144 हुआ लागू,।


किसानों के दिल्ली कूच को लेकर पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। साथ ही राजधानी में धारा-144 लागू कर कई चीजों पर पाबंदी लगाई गई है। किसानों को इस ट्रैक्टर, बस व अन्य वाहनों से दिल्ली में घुसने नहीं दिया जाएगा। सीमाओं पर भारी संख्या में सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं। किसानों का दिल्ली कूच के मद्देनजर सभा, जुलूस, रैलियों व ट्रैक्टर ट्राली लेकर राजधानी में प्रवेश पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया गया है।सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा ने 12 फरवरी से 12 मार्च तक धारा-144 लगा दी है।।


आदेश में कहा गया है कि वर्ष 2020-21 में हुए किसानों के प्रदर्शन के अनुभव और खुफिया एजेंसियों से प्राप्त बड़े पैमाने पर गंभीर कानून व्यवस्था की समस्या के इनपुट को ध्यान में रखते हुए ऐसी किसी भी स्थिति से बचने के लिए कानूनी कदम उठाना आवश्यक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *