Wednesday, July 17, 2024
maharastra

क्या शिवसेना अकेले लड़ेगी चुनाव? क्यों नहीं उठा रहे उद्धव ठाकरे नाना पटोले का फोन ?

Written By: Nisha Chaudhary, National Khabar

महाराष्ट्र में 26 जून को चार एमएलसी सीटों के लिए चुनाव होने हैं। बहरहाल, ऑल इंडिया एलायंस के सहयोगियों के बीच विवाद देखे गए हैं। 
कांग्रेस और उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना-यूबीटी आमने-सामने हैं। इसके अलावा, उद्धव ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में निर्विरोध लड़ने का फैसला किया है। 
महाराष्ट्र में 288 विधानसभा सीटें हैं जिनमें से बहुमत के लिए 145 की जरूरत है। 

लोकसभा चुनाव के दौरान सांगली सीट के लिए कांग्रेस और शिव सेना के बीच कड़ा मुकाबला था। कांग्रेस के दावों के बावजूद शिव सेना ने सीट जीत ली। कांग्रेस के उम्मीदवार विशाल पाटिल निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़े और जीत हासिल की। यहां, उद्धव के उम्मीदवार को तीसरा स्थान दिया गया। ऐसा अनुमान है कि राज्य में कांग्रेस के प्रमुखता से उभरने का असर उद्धव ठाकरे की शिव सेना पर पड़ेगा। अब यह बात सामने आई है कि उद्धव अकेले विधानसभा चुनाव लड़ने का इरादा रखते हैं।

विधानसभा चुनाव में कांग्रेस अतिरिक्त सीटों पर दावा कर सकती है। अगर ऐसा हुआ तो उद्धव को नई समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। संभावना है कि उद्धव को यह समीकरण समझ में आ गया है, यही वजह है कि उनके अकेले लड़ने की अफवाहें राजनीतिक गलियारों में घूम रही हैं। महाराष्ट्र विधानसभा के लिए स्वतंत्र रूप से चुनाव लड़ने के लिए उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना ने तैयारी शुरू कर दी है। पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे बुधवार को मुंबई में पार्टी नेताओं की एक बैठक में मौजूद थे।

कांग्रेस का राज्य नेतृत्व सीटों और उम्मीदवारों को लेकर चिंतित है क्योंकि उद्धव पूरी तरह से अपनी व्यक्तिगत प्राथमिकताओं के आधार पर चुनाव कर रहे हैं। ऐसी अफवाहें भी हैं कि उद्धव ठाकरे कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले का फोन भी वापस नहीं कर रहे हैं। ऐसी भी अफवाहें हैं कि उद्धव राज्य के नेताओं के बजाय कांग्रेस के केंद्रीय नेताओं से बात कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *