Wednesday, May 29, 2024
EDITORIALUncategorized

देश में मानसून का कहर जारी…सरकार की नीति पर भारी

रिपोर्ट: प्रज्ञा झा

देश में मॉनसून का कहर भारी पड़ रहा है। मॉनसून ने अलग-अलग राज्यों में अपने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। हर जगह पानी भरा हुआ है। लोग घर छोड़कर सड़कों पर रहने के लिए मजबूर हो चुके हैं। घरों में पानी भर चुका है ,मॉनसून ने अपनी विदाई के वक्त में देश को डुबाना शुरू कर दिया। आईएमडी (इंडिया मेट्रोलॉजिकल डिपार्टमेंट) के रिपोर्ट के मुताबिक हमारे देश में अभी तक बारिश के कारण 2000 लोगों की मौत हो चुकी है। बारिश अपने रौद्र स्वरूप में पिछले कुछ दिनों से दिल्ली एनसीआर और देश के अन्य राज्यों में कहर बरसाता दिख रही है। गुजरात ,राजस्थान, तेलंगाना, असम हिमाचल ,उत्तराखंड ,दिल्ली और अन्य राज्य है ,जहां पर बारिश का कहर अभी तक थमा नहीं है। IMD की रिपोर्ट के मुताबिक जो बारिश आज हो रही है, वह जुलाई के महीने में ही हो जानी चाहिए थी। लेकिन सितंबर 17 के बाद से यह बारिश ने तूल पकड़ना शुरू कर दिया।
सरकार की खुली पोल


इस बारिश ने सरकार की भी पोल खोल कर रखती है। जो पार्टियां यह कहकर अपना परचम लहराते थी, कि उनकी सरकार हर आपदा से लड़ने के लिए तैयार है। देश में किसी भी तरीके की आपदा आने से अगर कोई नुकसान होता है। तो उसे भी जल्द से जल्द भर सकती हैं । लेकिन जहां सड़कों पर पानी दिख रहा है, गाड़ियां बारिश के पानी में डूबी हुई नज़र आ रहे हैं। हिमाचल प्रदेश में भूस्खलन जैसे हालात पैदा हो गए हैं ,जिससे तीर्थयात्री अपने घर पहुंचने में असमर्थ हैं।


कौन कौन से राज्य हुए ज्यादा प्रभावित?

दिल्ली : दिल्ली में मानसून की हालत कोई ज्यादा अच्छी नहीं है। भारी बारिश के कारण सड़कों पर पानी भर चुका है येलो अलर्ट जारी कर दिया गया है। दिल्ली में सभी प्राइवेट स्कूलों को 23 सितंबर तक के लिए बंद करा दिया गया है। सड़कें पानी में मग्न है। दिल्ली भारी बारिश में डूब रही है। IMD की रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली में शुक्रवार 8:30 A.M. से शनिवार 8:30 A.M. तक 15 mm तक बारिश हुई है। दिल्ली में आवाजाही के कई रास्तों को बदल दिया गया है।

Uttar pradesh:- उत्तर प्रदेश की बात करें तो पिछले 2 दिनों से भारी बारिश ने कहर मचाया हुआ है। सड़कों पर पानी भरा हुआ है। मौसम विभाग के द्वारा किए गए रिपोर्ट में कहा गया है कि इस बार यूपी में 453 mm बारिश हुई है। बरसात की स्थिति सामान्य रही है लेकिन पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश होने के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त हो चुका है और आम लोगों को कई तरीके की परेशानियां देखने को मिल रही हैं। यूपी के कई निचले भागों में पानी भरने के कारण गाड़ियों की आवाजाही और निजी स्कूलों को कुछ दिनों के लिए बंद कर दिया गया है।

मुंबई :- मुंबई में भारी बारिश हो रही है, पर फिलहाल भारी बारिश के चलते किसी भी तरीके की आवाजाही की रोक नहीं लगाई गई है। सड़कों पर पब्लिक ट्रांसपोर्ट और प्राइवेट गाड़ियां सभी चल रही है। लेकिन मुंबई जैसे तटीय इलाके में यह स्थिति कब तक बनी रहेगी, इसे कोई नहीं कह सकता पिछले साल भी मुंबई में भारी बारिश के चलते काफी भयावह तस्वीरें भी सामने आई थी।

हरियाणा: हरियाणा में पिछले 2 दिन से भारी बारिश के चलते काफी परेशानी देखने को मिल रही है सभी किसानों की खेती पानी भरने के कारण खराब हो गई है। हरियाणा और दिल्ली में 739 से 1027 percent तक बारिश रिकॉर्ड किया गया है। हरियाणा के मुख्य मंत्री भूपेंद्र सिंह हुडा से लोगो की अपील है की जो भी नुकसान किसानों को झेलना पड़ा है उसका मुआवजा दिया जाए। इस बार सबसे ज्यादा बासमती चावल की खेती में परेशानी हुई है।


उत्तराखंड:- उत्तराखंड में भारी बारिश के चलते काफी ज्यादा नुकसान हुआ है भूस्खलन जैसी स्थिति सामने आ रही है केदारनाथ धाम गए काफी यात्री को अब वापस आने में काफी तकलीफों का सामना करना पड़ रहा है|

बारिश के कारण अलग-अलग राज्यों में काफी परेशानियां ,पीड़ा, दुख ,लोगों की आंखों में आंसू है ।सरकार अभी भी यह कह रही है ,कि वह बचाव कार्य में लगी हुई है |किसी भी तरीके का कोई खास नुकसान नहीं हुआ है |लेकिन सड़कों पर पानी भरना, गाड़ियों का देर तब ट्रैफिक में फंसे रहना सड़कों का यह हाल है कि भारी बारिश के कारण सड़कें धस रही है। क्या यही थी वो सारी त्यारियां जिसके सहारे हर आपदा से लड़ा जा सकता था। दो लोग जो फ्लैट में रह रहे हैं ,उनके लिए इतनी परेशानी भले ना हो ।लेकिन जो लोग निचले स्थान पर रहते हैं ।कभी उनका सोच कर देखिए घरों में पानी भरा होना और किसी सुरक्षित जगह पर पहुंचने की चिंता कितनी ज्यादा होती है।
[

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *