नवजोत सिंह सिध्दू ने आखिर क्यों दिया इस्तीफा? जानिए वजह

रिपोर्ट- भारती बघेल

पंजाब के कांग्रेस अध्यक्ष के पद से नवजोत सिंह सिध्दू ने जैसे ही इस्तीफा दिया…एक तरफ धीरे- धीरे जहां राजनीतिक बाजार गर्म हो रहा है वहीं दूसरी तरफ हर किसी के जहन में एक सवाल जो अंदर ही अंदर हिलोरे ले रहा है वो ये कि आखिर क्यों नवजोत सिंह सिध्दू ने इस्तीफा दे दिया….आपको बता दें कि नवजोत सिंह सिध्दू न इस्तीफे के बाद एक वीडियो जारी की है जिसमें उन्होंने इस्तीफे की वजह बताई है…

29 सितंबर दिन बुधवार को वीडियो जारी करते हुए नवजोत सिंह सिध्दू ने कहा कि वह किसी भी कीमत पर समझौता नहीं करेंगे…इसी के साथ- साथ उन्होंने ये भी कहा कि वे हमेशा हक और सच के लिए लड़ाई लड़ते रहेंगे…इस्तीफे की वजह को साफ करते हुए उन्होंने कहा कि पंजाब में नई सरकार बनते ही भ्रष्ट लोगों को भी जगह दी जा रही है, जिसमें कुछ दागी नेता और कुछ दागी अफसर भी शामिल है…..इसके अलावा सिध्दू ने खासतौर पर जिन भ्रष्ट लोगों का जिक्र किया है उनमें पहले नंबर पर हैं कार्यकारी डीजीपी इकबाल प्रीत सिंह सहोता और दूसरे नंबर पर हैं एडवोकेट जनरल अमरप्रीत सिंह देयोल का जिक्र किया है…

डीजीपी इकबाल प्रीत सिंह सहोता से सिध्दू की नाराजगी तब से हैं जब से डीजीपी ने अकाली दल के बादल परिवार को बेअदबी के मामले में क्लीन चिट देने काी बात कही गई…वहीं एडवोकेट जनरल अमरप्रीत सिंह देयोल से सिध्दू की नाराजगी तब से हैं जब एडवोकेट ने पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैणी का केस लड़ा…फिलहाल पंजाब और हरियाणा के हाईकोर्ट के एक आदेश के चलते 2022 तक उन्हें गिरफ्तारी से राहत मिली हुई है…

—पंजाब के मुख्यमंत्री से सिध्दू करेंगे मुलाकात
पंजाब में कांग्रेस के अंदर अफरातफरी मची हुई है…पंजाब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफे के बाद से सिध्दू ने राज्य सरकार को ही निशाने पर ले लिया था…लेकिन आज यानी गुरुवार को सिध्दू मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से मुलाकात करेंगे….वही इस बात की जानकारी खुद सिध्दू ने आज ट्वीट करके दी है…ट्वीट में उन्होंने बताया है कि पंजाब के नए मुख्यमंत्री चन्नी ने खुद उनको आमंत्रित किया है…मिली जानकारी के मुताबिक दोपहर तीन बजे दोनों की पंजाब भवन में मुलाकात होगी…वहीं किसी भी चर्चा के लिए नवजोत सिंह सिध्दू ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया है….

—सुनील जाखड़ दिखे सख्त
एक तरफ नवजोत सिंह सिध्दू और पंजाब के मुख्यमंत्री मुलाकात करने जा रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ सुनील जाखड़ ने सख्त लहजे वाले बोल के साथ ट्वीट करते हुए लिखा है कि….बस बहुत हो गया…मुख्यमंत्री को नीचा दिखाने की कोशिशें अब थमनी चाहिए….मुख्यमंत्री के कार्यकाल में कुछ अधिकारियों की नियुक्ति पर सवाल करना मुख्यमंत्री पर शंका करने जैसा है, और ये वक्त शंका करने का नहीं है….

—नवजोत सिंह सिध्दू की द कपिल शर्मा शो में होगी वापसी?
राजनीति और बॉलीवुड का एक दूसरे से अनोखा संबंध है…यहां इंसान को बॉलीवुड से राजनीति में और राजनीति से बॉलीवुड में जाने में टाइम नहीं लगता…सिध्दू के इस्तीफे के बाद ये अंदेशे लगाए जा रहे हैं कि नवजोत सिंह सिध्दू द कपिल शर्मा शो में दोबारा एंट्री कर सकते हैं…जैसा कि आप जानते हैं कि सिध्दू पहले भी द कपिल शर्मा शो में जज की कुर्सी संभाल रहे थे इसी बीच उन्हें कांग्रेस की ओर से पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष बनने का मौका मिला तो उन्होंने शो छोड़ दिया…अब जबकि वो इस पद से इस्तीफा दे चुके हैं तो कहीं न कहीं ये सोचना गलत नहीं होगा कि वो दोबारा इस शो में जज की कुर्सी संंभाल सकते हैं…

सिध्दू के शो में लौटने की बात पर क्या बोलीं अर्चना
जैसा कि आप जानते ही हैं कि सिध्दू के शो से जाने के बाद अर्चना पूरन सिंह शो की कुर्सी संभाल रहीं थीं…सिध्दू के इस्तीफे के बाद से सोशल मीडिया पर मीम्स जोर पकड़ रहे हैं…

—आखिर बन ही गई बात
जैसा कि आप जानते हैं कि पंजाब के मुख्यमंत्री चन्नी ने सिध्दू को मिलने के लिए आमंत्रित किया था…मीडिया की मानें तो दोनों के बीच अब सुलह बन गई है…बैठक में और भी कई लोग महत्वपूर्ण लोग मौजूद थे….सूत्रों की मानें तो पंजाब के मुख्यमंत्री और सिध्दू थोड़ी ही देर में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे…साथ ही इसमें कोई हैरानी नहीं होनी चाहिए कि इस इस्तीफे से राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को बहुत बड़ा धक्का लगा है…और हो भी क्यों न…नवजोत सिंह सिध्दू के चलते ही कांग्रेस ने कैप्टन अमरिंदर जैसे दिग्गज नेता को बाहर का रास्ता दिखा दिया…वहीं मुख्यमंत्री ने सबकुछ ठीक होने की उम्मीद जताई है….मिली जानकारी के मुताबिक चन्नी और सिध्दू के बीच दो घंटे तक बैठक चली…

पंजाब चुनाव के लिए कांग्रेस ने क्या तैयार की रणनीति
पंजाब कांग्रेस में हो रहे आएदिन बदलावों को लेकर उथल पुथल मची हुई है…पार्टी के नेता हो या वर्कर सब परेशान हैं…किसी को भी समझ नहीं आ रहा है कि आखिर हो क्या रहा है…जिस समय पार्टी को आगामी चुनाव के बारे में सोचना चाहिए उस समय कोई सन में भाग रहा है कोई वन में…सब आपस में ही उलझते दिख रहे हैं….

जब कैप्टन और सिध्दू में विवाद हुआ तो उन्होंने देखा कि सिध्दू का पलड़ा भारी है,और यहीं भांप कर इससे पहले की उन्हें हटाया जाए उन्होंने खुद ही इस्तीफा दे दिया…लेकिन जिस तरह कांग्रेस की हर जगह फजीहत कराके जिस नाटकीय ढंग में सिध्दू ने इस्तीफा दिया वो कहीं न कहीं कैप्टन के लिए राहतभरा कदम रहा….

इस उठा पटक के देखते हुए पार्टी के एक पदाधिकारी का बयान आया जिन्होंने कहा कि जो भी पार्टी और सरकार में चल रहा है वो किसी भी दृष्टि से ठीक नहीं है…पार्टी के जो आलाकमान हैं वो भी मूकदर्शक बनकर बैठे हुए हैं….उनके ऊपर भी लोग अपने- अपने अंदाज में बयानबाजी कर रहे हैं…ऐसे में पार्टी आलाकमान को अपनी जिम्मेदारियों को समझते हुए बहुत ही सूझबूझ के साथ निर्णय लेने होंगे…वहीं अगर ऐसा ही हाल रहा तो आगामी दिनों में प्रदेश की सत्ता की चाबी खो बैठेंगे…

पार्टी में जो कुछ भी हो रहा है,उसे लेकर सब टीवी पर नजरें बनाए हुए हैं वहीं जो लोग बफादार हैं वो ये कहते हुए दिख रहे हैं कि बस बहुत हुआ…अगर ऐसे ही चलता रहा तो पार्टी बिखर जाएगी और फिर दोबारा इसे खड़ा कर पाना बहुत मुश्किल होगा…

—कौन हैं नवजोत सिंह सिध्दू?
चलिए अब उनके बारे में बताते हैं जिन्होंने कांग्रेस की फजीहत कराने में कोई कसर नहीं छोड़ी वो भी उस वक्त जब अगले साल प्रदेश में चुनाव है…पार्टी में उथल-पुथल तो चल रही थी लेकिन काबू से बाहर हालात नहीं थे लेकिन पिछले कुछ दिनों से सिध्दू और कैप्टन के टकराव के बाद मानो पार्टी का ओर आ गया हो…ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि टकराव होने के चलते कैप्टन ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया…और उसके बाद जब चन्नी मुख्मंत्री बनाए गए तो सिध्दू ने उनके नियुक्त किए गए अधिकारियों पर उंगली उठा दी …और उंगली उठाने के बाद जिस नाटकीय ढंग से इस्तीफा दिया उसने सबको हैरत में डाल दिया…

तो अब यही जानेंगे कि कौन हैं नवजोत सिंह सिध्दू ?
नवजोत सिंह सिध्दू पंजाब के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष हैं…सिध्दू का जन्म 20 अक्टूबर 1963 को पंजाब के पटियाला में हुआ था….सबसे पहले भारत के क्रिकेट खिलाड़ी के रुप में सिध्दू पहचान में आए…आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सिध्दू 1983 से 1999 तक क्रिकेट में अपनी जान फूंकते नजर आए… उसके बाद उन्होंने खेल से सन्यास ले लिया और दूरदर्शन पर क्रिकेट के लिए कमेंट्री करना शुरु कर दिया…इसके बाद वो राजनीति में सक्रिय होने लगे…और इसके साथ ही उन्होंने राजनीति में भाग लेना शुरु कर दिया…साल 2004 में वो भाजपा के टिकट पर अमृतसर के सांसद चुने गए…इसी बीच उनपर पर एक व्यक्ति की हत्या का आरोप लगा और उनपर मुकदमा चला…इसके बाद अदालत ने उन्हें तीन साल की सजा सुनाई गई…जिसके चलते उन्होंने लोकसभा की सद्स्यता से तुरंत ही त्यागपत्र दे दिया और उच्चतम न्यायालय में सिध्दू ने याचिका दायर कर दी…इसके बार दोबारा उन्होंने इस सीट से चुनाव लड़ा और फिर से जीत अपने नाम की…इसके बाद 2007 में फिर कांग्रेस के प्रत्याशी को हराकर सिध्दू ने अमृतसर सीट हथिया ली…और 2009 में तीसरी बार फर से सिध्दू ने कांग्रेस प्रत्याशी को हराकर अमृतसर सीट पर विजय पा ली…

सिध्दू पूरी तरह शाकाहारी हैं..उनकी पत्नी का नाम भी संयोग से नवजोत है जो कि पेशे से एक चिकित्सक हैं….आपको बता दें कि सिध्दू एक टीवा कलाकार भी रह चुके हैं…उन्हें ई.पी.एन.एस नाम के एक स्टार स्पोर्ट्स ने अपने चैनल के लिए आमंत्रित किया, वहीं उन्होंने वन लाइनर कॉमेडी की…उनके इस टैलेंट को लोगों ने बहुत सराहा और उनकी जमकर तारीफ की…इसके बाद सिध्दू टेन स्पोर्ट्स से जुड़ गए…और क्रिकेट समीक्षक के नए रोल में फिर से टीवी पर छा गए…इसके बाद उन्हें कई भारतीय चैनल भी ऑफर देने लगे…

इसके बाद एक कॉमेडी शो में उन्होंने जज की कुर्सी संभाली, जिसका नाम था …द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेन्ज …इसके अलावा पंजाबी चक दे नाम के एक सीरियल में भी सिध्दू ने काम किया…सिध्दू बिग बॉस के छठे एपिसोड में भी दिखाई दिए थे…वहीं कपिल शर्मा के शो में वो फिर से जज की कुर्सी संभाले हुए दिखे थे….और ये सफर चलते चलते पंजाब के प्रदेश अध्यक्ष तक आ गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *