भारत में पोर्नोग्राफी के केस में क्या है सजा का प्रावधान? जानिए कैसे फंसे शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा….

रिपोर्ट- भारती बघेल

आज हम आपको एक ऐसी खबर के बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं जो दिनभर सुर्खियों में रहती है…और सुर्खियों में रहने के पीछे जो सबसे बड़ा कारण हैं वो है पोर्नोग्राफी…पोर्नोग्राफी अर्थात् अश्लील फिल्मों के चलते शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा चर्चा में हैं… राज कुंद्रा के सुर्खियों में आने के बाद आपके दिमाग में तमाम तरह के प्रश्न आ रहे होंगे कि क्या भारत में पोर्न फिल्में देखना गैर कानूनी है? बनाना गैर कानूनी है? उनका वितरण गैर कानूनी है? अथवा सब कुछ गैर कानूनी है? तो ये सारी बातें आपको आज के इस लेख को पढ़ने के बाद साफ हो जाएगी…और आपके दिमाग में एक अवेयरनेस भी पैदा होगी…और ये अवेयरनेस भारत के एक सभ्य समाज के निर्माण के लिए बहुत आवश्यक है….

आज से करीब एक हफ्ते पहले मुंबई पुलिस ने शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा को गिरफ्तार कर लिया…गिरफ्तारी की वजह बताते हुए मुंबई पुलिस ने कहा कि उसे एक लिंक प्राप्त हुआ है कि राज कुंद्रा पोर्नोग्राफी के लिए जिम्मेदार हैं यानी अश्लील फिल्में बनाने के लिए जिम्मेदार हैं…और अश्लील फिल्मों को न केवल बनाने के लिए बल्कि उन्हें बांटने या फैलाने के लिए भी ये जिम्मेदार हैं…

चलिए अब आपको बताते हैं कि ये पूरा मसला आखिर था क्या?

असल में राज कुंद्रा के एक भाई हैं जो ब्रिटेन में रहते हैं…राज कुंद्रा अपने यू.के वाले भाई के साथ मिलकर पोर्नोग्राफी का पूरा कारोबार चलाते थे…कुंद्रा ने यू.के के अंदर एक कंपनी की स्थापना की जिसका नाम है “Kenrin” …ये केनरिन नाम की कंपनी राज कुंद्रा ने अपने यू.के वाले भाई के साथ मिलकर बनाई थी जो यूके याने ब्रिटेन में रजिस्टर्ड है…ब्रिटेन में इस कंपनी ने राज कुंद्रा ने 8 से 10 करोड़ रुपये का इनवेस्ट किया…इस कंपनी के द्वारा अपने लिए एक अलग से एप्लीकेशन बनाया गया जिसका नाम है “JL Stream” app …ये “JL Stream” app किसी भी जगह पर उपलब्ध नहीं है अर्थात् आप मत समझिएगा कि आप इस एप्लीकेशन को ढूंढ़ने निकलेंगे और आपको ये किसी गुगल प्ले स्टोर पर मिल जाएगा…ये किसी भी प्ले स्टोर पर नहीं हैं….दरअसल ये डायरेक्ट एपी की फाइल है….

अब आप पूछेंगे कि ये एपी की फाइल क्या होती है?
ऐसे एप्लीकेशन्स जिन्हें गुगल या फिर एप्पल के आईओएस सिस्टम के द्वारा प्रमोट नहीं किया जाता फिर भी वो डायरेक्ट वेबसाइट के माध्यम से डाउनलोड की जा सकती हैं…ऐसे एप्लीकेशन “JL Stream” को इन्होंने बनाया…आपको ये जानकारी हैरानी होगी कि इस “JL Stream” के लगभग 10 लाख डाउनलोड्स हैं…यानी कि इस “JL Stream” के 10 लाख कस्टमर हैं…इन कस्टमर को राज कुंद्रा और उनके भाई मुंबई के अंदर मलाड़ नामक पर्टिकूलर क्षेत्र में वहां के होटल और बंगलों में पोर्न फिल्म की शुटिंग करके इस एप्लीकेशन के माध्यम से बेचा करते थे…ये पूरा कारोबार अपने मुंबई से शुरु करते थे और इनका भाई यूके में रहकर इस कारोबार को बढ़ाता था…

अब यहा पर एक बड़ा सवाल जो खड़ा होता है वो ये कि ये कंपनी यूके की है, भाई भी यूके में है..ये एप्लीकेशन न गुगल पर है और न एप्पल के आईओएस सिस्टम में तो फिर राज कुंद्रा गुनहगार कैसे हो गए?

दरअसल यहां जो फिल्म शूट होदती थी वो एप्लीकेशन पर जाने से पहले यूके भेजी जाती थी…और इस फिल्म को यूके एक एप्लीकेशन के जरिए भेजा जाता था जिसका नाम है “VChat” app…अगर आपको याद हो तो भारत सरकार ने बीते साल चाईनीज एप्लीकेशन बैन किये थे तब इस एप्लीकेशन को भी बैन किया था…ये एक ऐसा एप्लीकेशन है जिसके ऊपर 200 जीबी तक का मटेरियल ट्रांसफर किया जा सकता है…वहीं इस एप्लीकेशन के माध्यम से राज कुंद्रा ये अश्लील फिल्मों का पूरा कंटेट यूके अपने भाई के पास भेजा करते थे…

अब आपका सवाल होगा कि ये सारी बातें आपको क्यों बताई जा रही हैं?
क्योंकि आपको यहां से ये समझ आएगा कि भारत में जो पोर्नोग्राफी को लेकर कानून है उन कानूनों के मुताबिक किसी भी एप्लीकेशन के माध्यम से, या किसी भी वेबसाइट के माध्यम से पोर्नोग्राफी को प्रसारित करना बैन है..और यही असली कारण है राज कुंद्रा की गिरफ्तारी का…वहीं आप भी जान लीजिए कि अगर आप किसी भी व्यक्ति को किसी भी माध्यम से चाहें सोशल मीडिया हो, व्हाट्सएप, फेसबुक,या xyz कोई भी एप्लीकेशन…अगर आप वहां से किसी को वीडियो फॉरवर्ड कर रहे हैं तो आप इस आईटी एक्ट की धारा जो जल्द ही आपके सामने आने वाली है ” 67ए” उसके तहत गिरफ्तार किए जा सकते हैं…जिसके तहत अधिकतम 7 साल की सजा का प्रावधान है…

राज कुंद्रा के लिए मुंबई पुलिस ने पहले से ही बिछा रखा था जाल
करीब 10 से 12 दिन पहले किसी साउथ अफ्रीकन कस्टमर ने राज कुंद्रा से इनके द्वारा एक वीडियो की डिमांड की जिसके चलते ये व्हाट्सएप पर ऐसी चैट करने के कारण पुलिस की नजर में तो पहले से ही थे लेकिन उसके पास ऐसा कोई सबूत नहीं था जिसके लिए राज कुंद्रा को जिम्मेदार ठहराया जा सके…और जैसे ही ये व्हाट्सएप चैट हुई..पुलिस को सबूत मिल गया..और तत्काल ही राज कुंद्रा को गिरफ्तार कर लिया गया…

चलिए अब बात करते हैं कि भारत में पोर्न फिल्मों को लेकर क्या है कानून?
सबसे पहली बात जो आपको पता होनी चाहिए वो ये है कि भारत में पोर्न फिल्में देखना बैन नहीं है…हमारे देश में ये प्रावधान है कि यहां पोर्न फिल्में देखना बैन नहीं हैं लेकिन पोर्न साइट्स बैन हैं…आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत सरकार ने अक्टूबर 2018 में पोर्न वेबसाइट को बैन किया है ..साथ ही साथ jio, airtel ने भी ऐसी वेबसाइट को अपने पोर्टल से बैन कर दिया…करीब 2800 वेबसाइट अक्टूबर 2018 में बैन की गईं…वहीं 2020 में 857 पोर्न वेबसाइट बैन की गईं..

—अगर आप सोशल मीडिया पर पोर्न फिल्में डालते हैं तो पुलिस उस तक पहुंच जाएगी क्योंकि अब “first originator” बताना अब कंपलसरी हो गया है…वहीं 15 दिन के भीतर ग्रिवांस अधिकारी ऐसे लोगों पर कार्यवाही कर देगा….वहीं ग्रिंवास अधिकारी ने 15 दिन में उस व्यक्ति पर क्या एक्शन लिया है इसकी पूरी जानकारी सरकार को देंगे…

—-अगर डिजिटल न्यूज यानी वेबसाइट के माध्यम से पोर्न फिल्मों को अगर बांटा गया तो उसके लिए भी information and broadcasting ministry ने पूरा एक पैनल बना दिया है…जो ऐसे लोगों पर कड़ी कार्यवाही करेगा…

—अगर हम ओटीटी प्लेटफॉर्म की बात करें तो ओटीटी प्लेटफॉर्म्स में उम्र के आधार पर केटेग्राइस कर दिया गया है…

—भारत में चाइल्ड पोर्नोग्राफी देखना ही नहीं बल्कि इसे सर्च करना भी बैन है…और अगर आप इसे सर्च भी करते हैं तो भी आप सजा के भागीदार होंगे…

—किसी भी महिला का एमएमएस यानी किसी महिला की फोटो काटकर दूसरे के चेहरे पर लगा दी…या कई बार आपने सुना होगा कोई महिला कपड़े बदले रही थी उसका विडियो बनाकर किसी भी प्लेटफॉर्म पर डाल दिया…ये इस तरह की सारी चीजें भारत मेंं बैन हैं…

—-सबसे महत्वपूर्ण जो जानना आपके लिए जरुरी है वो है धारा ” 67ए” जो कहती है कि अगर आप पोर्न वीडियो बनाते हो, और उसे एक जगह से दूसरी जगह भेजते हो…साथ ही साथ इसका वितरण भी अगर आप करते हो तो आप साइबर पोर्नोग्राफी केस के अंतर्गत दंड के भागीदार होंगे…और इसे धारा ” 67ए” के अंदर कवर किया जाएगा…साथ ही आपको बता दें कि राज कुंद्रा का केस भी इसी के तहत आ गया है क्योंकि उन्होंने पोर्न फिल्में बनाई भी, ट्रांसफर भी की और डिस्ट्रीब्यूट भी…

जिस तरह आप शराब पी तो सकते हैं, लेकिन पीकर गाड़ी नहीं चला सकते…शराब पीकर किसी तीर्थ स्थल पर अशांति नहीं फैला सकते…मगर शराब के ठेके जितने चाहों उतने खोल सकते हो…उसी तरह पोर्न फिल्में देख तो सकते हो, मगर किसी को भेज नहीं सकते…इन सारे तामझाम को हटाकर अगर हमारी सरकार सीधे ये कहती कि शराब बैन है…तो न आज देश में शराब के ठेके होते और न शराबी….अगर हमारी सरकार सीधे ये कहती कि पोर्न फिल्में बैन हैं…
तो किसी की हिम्मत ही नहीं होती सर्च करने की…और जब सर्च ही नहीं होती तो जाहिर सी बात है कि बनती ही नहीं और जब बनती ही नहीं तो लोगों के दिमाग में ये गंदगी बढ़ती ही नहीं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *