Tuesday, July 16, 2024
DELHI/NCRuttrakhand

सालों में एक मंडी नहीं बनी सरकार MSP कहाँ से देगी, संसद में अखिलेश यादव का स्पिन

चुनावों के बाद से ही संसद का पहला सत्र काफी अधिक महत्वपूर्ण माना जा रहा था। NDA की सरकार पर विपक्ष लगातार हमलावर है। सोमवार को राहुल गाँधी और अब अखिलेश यादव। दोनों ही अपने भाषणों में कई मुद्दों को उठाते हुए नज़र आए हैं।

Written By: Pragya Jha, National khabar

इस बार संसद का ये सत्र काफी हंगामे से भरा हुआ है। NDA की सरकार पर नेता प्रतिपक्ष हमलावर हैं और सवालों की फेहरिस्त लगी है। सोमवार को राहुल गाँधी ने 100 से अधिक नियमों को तोडा और पहले ऐसे नेता प्रतिपक्ष बन गए जिन्होंने इतने नियम तोड़े। साथ ही उन्होंने सॉफ्ट हिन्दुतवा का कार्ड संसद में रखा दूसरी तरफ वो अग्निवीर योजना, पेपर लीक और अयोध्या जैसे कई मुद्दों को उठाते हुए नज़र आए। मंगलवार को भी संसद में कुछ यही अंदाज़ समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव का नज़र आया। सोमवार को हुए हंगामे पर सवाल पूछे जाने पर उन्होंने कहा की कई और सवाल तो अभी बाकी है। मंगलवार को संसद में राष्ट्रपति के अभिवादन पर धन्यवाद् प्रस्ताव प्रस्तुत करते हुए अखिलेश यादव ने अपने भाषण की शुरुवात की।

1 ट्रिलियन की GDP बनने के लिए 35 % की बढ़ोतरी चाहिए


“आवाम ने तोड़ दिया हुकूमत का गुरुर, दरबार तो लगा है लेकिन बड़ा गमगीन और बेनूर” NDA सरकार पर तंज कस्ते हुए Akhilesh Yadav ने इन्ही शब्दों से अपने भाषण की शुरुवात की और इसके बाद कई बड़े मुद्दों पर बात की। सबसे पहले तो GDP और per Capita income पर बार करते हुए अखिलेश यादव ने कहा की NDA सरकार का कहना हैं की भारत की GDP 5वि सबसे बड़ी GDP हैं। उत्तर प्रदेश की GDP को 1 ट्रिलियन की GDP बनने की बात कर रहे हैं लेकिन ऐसा करने के लिए 35 % की बढ़ोतरी चाहिए और मुझे नहीं लगता की ऐसा होना संभव भी हैं। GDP की बात हो रही हैं लेकिन हमारा हंगर इंडेक्स कहाँ पहुँच चुका हैं।

स्मार्ट सिटी बनाने की बात एक जुमला हैं


अखिलेश यादव ने कहा की 10 सालों में सरकार कहती आई हैं की उत्तर प्रदेश को स्मार्ट सिटी बनाएँगे लेकिन सड़कों की हालत, गंगा के पानी की हालत, स्टेशन की गिरती हुई दिवार, सड़कों में गड्ढे और छुट्टा पशु की हालत तो अभी तक नहीं सुधर पाई हैं।

बच्चों को नहीं देना चाहते रोजगार


NEET पेपर लीक मामले को लेकर भी अखिलेश यादव ने कहा की ये पेपर लीक क्यों हो रहे हैं इसके पीछे कारण है की ये सरकार रोजगार नहीं देना चाहती है। बच्चें परेशान है लेकिन ये सरकार उन्हें रोजगार नहीं देना चाहती है।

EVM, अग्निवीर योजना, MSP, कास्ट सेन्सस पर भी किए सवाल


EVM पर एक बार फर सवाल अखिलेश यादव ने कहा की मुझे एवं पर कभी भरोसा नहीं है। हम कासते सेन्सस के सपोर्ट करते हैं क्योंकि उसी से सभी वर्गों को न्याय मिलेगा। साथ ही ये भी कहा की पिछले 10 सालों में ये सरकार एक मंडी नहीं बनवा पाई है तो इनसे MSP की उम्मीद क्या की जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *