Tuesday, July 16, 2024
National

हरियाणा में अब नहीं होगा आयुष्मान कार्ड से इलाज, जानिए क्यों ?

हरियाणा में आयुष्मान कार्ड धारकों के लिए बुरी खबर है अब हरियाणा की निजी अस्पतालों में आयुष्मान कार्ड से इलाज नहीं किया जाएगा। IMA का कहना है की इसके पीछे कारण है की राज्य सरकार आयुष्मान कार्ड से इलाज करा रहे लोगों के पैसों का भुगतान नहीं कर रही है।

Written By: Pragya Jha, National Khabar

अभी तक आयुष्मान भारत और चिरायु स्कीम के तहत जिन कार्ड धारकों का इलाज हो रहा था वो अबसे हरियाणा में नहीं होगा। दरअसल निजी अस्पतालों ने आयुष्मान कार्ड पर फ्री ट्रीटमेंट करना बंद कर दिया है। अस्पतालों का कहना है की आयुष्मान कार्ड पर इलाज के बाद सरकार लोगों के पैसे नहीं दे रही है इसके साथ कई और मांगे हैं जो सरकार पूरा नहीं कर रही है । इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने एक हफ्ते पहले ही इस बात की चेतावनी दी थी की राज्य सरकार आयुष्मान कार्ड धारकों के इलाज के पैसे नहीं देगी तो 1 जुलाई से निजी अस्पतालों में इलाज बंद कर दिया जाएगा। ।


ये भी पढ़ें: Diabetes का इलाज करने वाले शोधकर्ता से मरीजों के सीधे सवाल – National Khabar – https://go.shr.lc/3XO5nXE


निजी अस्पताल संचालकों का कहना है की 6-6 महीने से पैसे तक पैसे नहीं दिए गए हैं। इसके अलावा हॉस्पिटल्स वालों का कहना है की इलाज खर्च की पूर्व स्वीकृति दी गयी लेकिन बाद में उसमें भी कटौती की गयी। साथ ही बिल को अस्वीकृत कर दिया गया, जो की बहुत गलत है।


ये भी पढ़ें: 25 वर्षों से डायबिटीज का इलाज लेने पर भी नहीं मिला निजात – National Khabar – https://go.shr.lc/3W2pKil


सरकार के साथ बैठक विफल


IMA के करनाल प्रधान डॉ रोहित सरदाना से मीडिया से बात करते हुए बताया की राज्य स्तर पर सरकार के साथ हुई बैठक विफल रही है। इसके चलते IMA ने ये फैसला लिया है की अब आयुष्मान कार्ड धारकों का इलाज नहीं किया जाएगा। रिपोर्ट्स के मुताबिक करनाल के 50 निजी अस्पतालों के 18 करोड़ रूपए बकाया है जो अभी तक नहीं दिए गए हैं।


ये भी पढ़ें: घुटनों को बदलवाने की आवश्यकता अब नहीं है, पूरी रिपोर्ट पढ़ें। – National Khabar – https://go.shr.lc/3znryd7


200 करोड़ रूपए अभी भी बाकि


हरियाणा में 432 अस्पताल आयुष्मान कार्ड धारकों का इलाज करने के लिए पंजीकृत हैं। जिसमें तकरीबन 45000 मरीज इलाज लेने आते हैं लेकिन अभी तक सरकार 90 करोड़ रूपए ही दे पाई है बाकि 200 करोड़ रूपए अभी तक बाकि है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *