Interim Budget 2024: बनेगी समिति खुलेंगे और नए मेडिकल कॉलेज, अब MBBS के लिए नहीं होगी मारामारी

Interim Budget 2024: देश में डाक्टर बनने का सपना देख रहे युवाओं के लिए 2024 अंतरिम बजट में बड़ी घोषणा की गई है वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने चुनाव से ठीक पहले संसद में अंतरिम बजट 2024 पेश करते हुए कहा कि सरकार मेडिकल फील्ड में करियर बनाने का चाह रखने वाले छात्रों के लिए बड़ा कदम उठाएगी। बहुत सारे युवाओं का सपना है कि वो डॉक्टर बने और देश के लोगो को चिकित्सा सेवाएं प्रदान करें। उन युवाओं के लिए केंद्र सरकार और अधिक चिकित्सा महाविद्यालय खोलेगी।

Written By : Shridhi Bhardwaj, National khabar

हाइलाइट

  1. अंतरिम बजट 2024 में मेडिकल कॉलेज का जिक्र खुलेंगे और नए मेडिकल कॉलेज।

2. मोदी सरकार ने बनाएं 9 साल में 15 AIIMs

3. 16 IIITs , 7 IITs और 15 AIIMs

4. काॅम्पिटिशन का प्रेशर कम होगा स्टूडेंट्स का

अंतरिम बजट 2024 में मेडिकल कॉलेज का जिक्र खुलेंगे और नए मेडिकल कॉलेज

अंतरिम बजट में मेडिकल कॉलेज का जिक्र करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कई युवाओं क्वालीफाईड डाक्टर बनकर हमारे लोगों कि सेवा करना चाहते हैं। मोदी सरकार विभिन्न विभागों के तहत मौजूद अस्पताल के बुनियादी ढांचे का उपयोग करके अधिक से अधिक मेडिकल कॉलेज स्थापित करने कि योजना बन रही है। इस उद्देश्य के लिए प्रासंगिक सिफारिश करने के लिए और मुद्दों कि जांच करने के लिए एक समिति का गठन किया जाएगा।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि पीएम मोदी ने अनुसंधान को बढ़ावा देने के लिए ‘जय जवान,जय किसान, जय विज्ञान और जय अनुसंधान का नारा दिये। हमारी सरकार इस और आगे बढ़ने के लिए लगातार प्रयास कर रही है।

मोदी सरकार ने बनाएं 9 साल में 15 AIIMs

धर्मेंद्र प्रधान ने देश में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMs) की संख्या बढ़ने पर की कांग्रेस सरकार के शासन के दौरान केवल एक AIIMS बनाया गया वहीं वाजपेई के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार ने 6 AIIMS का निर्माण कराया। उन्होंने कहा कि गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने की वाजपेई के नेतृत्व के कारण पिछले 9 वर्षों में 15 नए AIIMs का निर्माण कराया गया

16 IIITs 7 IITs और 15 AIIMs

देश भर में 16 IIIT, 7 नए इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी और 390 यूनिवर्सिटी बनाई। इसके अलावा 15 ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (AIIMS) बनाएं गए हैं उन्होंने आगे कहा कि बहुत सारे युवा चाहते हैं कि वो डॉक्टर बनकर देश के लिए स्वास्थ्य सेवाएं दे। इसके लिए और ज्यादा चिकित्सा महाविद्यालय बनेंगे।
अंतरिम बजट पेश करते हुए निर्मला सीतारमण ने कहा कि स्किल इंडिया ने 1.4 करोड़ युवाओं को ट्रेनिंग दिया जा चुका है।

काॅम्पिटिशन का प्रेशर अब कम होगा स्टूडेंट्स का

मोशन एजुकेशन के फाउंडर और सीईओ नितिन विजय ने कहा कि पूरे भारत में नए मेडिकल कॉलेज स्थापित करने का प्रस्ताव और इसके लिए समर्पित समिति का गठन वित्त मंत्री का सराहनीय क़दम है। यह कदम निश्चित रूप से महत्वाकांक्षी छात्रों के लिए कई अवसर पैदा करेंगी । एक अधिक अनुकूल शिक्षण को बढ़ावा देगा और इससे वर्तमान में युवाओं द्वारा सामना किए जाने वाले प्रतिस्पर्धा का दबाव को कम करेगा। उन्होंने कहा कि डाक्टरों की भावी पीढ़ियों को सशक्त बना सकते हैं और राष्ट्र के लिए एक उज्जवल स्वास्थ्य सेवा में योगदान दे सकते हैं । मेडिकल एजुकेशन तक बढ़ी हुई पहुंच प्रदान करके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *