Wednesday, May 29, 2024
National

जबरन धर्म परिवर्तन पर सुप्रीम कोर्ट दिखा सख्त, कहा धर्म परिवर्तन देश की सुरक्षा के लिए भी खतरनाक

नेशनल खबर, डेस्क रिपोर्ट

जबरन धर्म परिवर्तन पर रोक लगाने की मांग वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करने के साथ- साथ एक अहम टिप्पणी की। सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस एमआर शाह ने कहा कि ये एक बहुत ही गंभीर मामला है। सभी को अपनी मर्जी से धर्म चुनने का अधिकार है, लेकिन जबरन धर्मांतरण बर्दाश्त के बाहर है। ये बहुत ही खतरनाक है।


आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट इस पर अगली सुनवाई 28 नवंबर को करेगा। कोर्ट ने कहा कि इस मामले में सॉलिसिटर जनरल यानी SG तुषार मेहता सरकार का पक्ष रखें। हम इस पर उनको सुनना चाहते हैं। जस्टिस एमआर शाह ने कहा कि ये देश की सुरक्षा के लिए भी बेदह गंभीर खतरा है। अगर कोई स्वेच्छा से धर्मांतरण करता है तो उसमें कोई समस्या नहीं है, लेकिन अगर उसके किसी भी दूसरे ढंग से धर्मांतरण कराया जाता है तो इस पर केंद्र सरकार को अपना रुख स्पष्ट करके रहना होगा।


उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को इस संबंध में जल्द ही कदम उठाने पड़ेंगे। इस पर SG ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि 21 नवंबर तक इस पर हम अपना जवाब दाखिल करेंगे। बता दें कि केंद्र सरकार का यह कहना था कि जो लोग इसके शिकार बनाए जा रहे हैं उनको खुद ये बात पता नहीं चलती कि हेल्प के नाम पर असल में उनके साथ धोखा हो रहा है।
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि याचिका में केंद्र और राज्यों को जबरन या धोखाधड़ी के जरिए धर्मांतरण को रोकने के लिए कड़े कदम उठाने के लिए कानून बनाने की मांग की गई है। साथ ही याचिका पर जस्टिस शाह और जस्टिस हिमा कोहली की बेंच सुनवाई कर रही है। वहीं याचिकाकर्ता अश्विनी उपाध्याय ने कहा कि यह समस्या पूरे देश में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *