Wednesday, May 29, 2024
HEALTH

डायबिटीज टाइप 1 के मरीज कोरी कल्पना में करा रहे बच्चों का इलाज…क्या है साइंटिस्ट डॉ. एस कुमार का दावा ?

रिपोर्ट :- प्रज्ञा झा

1- क्या आपका बच्चा भी डायबिटीज टाइप 1 से ग्रसित है?
2- 100 में से सिर्फ 20% बच्चों को आनुवांशिक डायबिटीज है |
3- क्या सच में आपके बच्चे को डायबिटीज है ?

डायबिटीज वैसे तो 2 तरह की होती है टाइप 1 और टाइप 2 | डायबिटीज टाइप 1 की तुलंना में टाइप 2 के मरीज़ ज्यादा पाए जाते हैं | टाइप 1 डायबिटीज बच्चों में पाया जाता है | डायबिटीज एक हार्मोनल कंडीशन है जिसमें शरीर में शुगर की मात्रा काफी बढ़ जाती है | भारत में हर साल 8.6 लाख बच्चे डायबिटीज टाइप 1 से ग्रसित होते हैं | डायबिटीज टाइप 1 से ग्रसित बच्चों के इम्यून सेल पैंनक्रियाज़ में मौजूद बीटा सेल को नष्ट कर देते हैं | बीटा सेल इंसुलिन का निर्माण करती हैं |


आज कल डायबिटीज टाइप 1 से ग्रसित बच्चों की संख्या काफी तेजी से बढ़ रही है | छोटे छोटे बच्चे जिन्हे बचपन में खेलना चाहिए , जिन्हे स्कूल के बस्ते में किताबें रखनी चाहिए वो अपने बस्तों में इंसुलिन लेके चलते हैं | वो बाकी बच्चों की तरह खेल नहीं सकते, वो अन्य बच्चों जैसे खा नहीं सकते ये एक बड़ी विडंबना है हमारे देश में की कोई भी व्यक्ति जब बढ़ी हुई शुगर की शिकायत लेकर डॉक्टर्स तक पहुँचता है तो उसे डायबिटीज पेशेंट करार दे दिया जाता है |


इस बीच माता पिता हमेशा यही कोशिश करते हैं कोई तो मिल जाए जो ये कहे की आपके बच्चे को डायबिटीज नहीं है और आपके बच्चे को हम ठीक कर सकते हैं| ज्यादातर लोगों को लगता है की किसी भी बीमारी का इलाज कराने के लिए हमें विदेशों का दौरा ही करना पड़ेगा लेकिन ऐसा नहीं है क्यूंकि हमारे ही देश में एक ऐसे शोधकर्ता मौजूद है जो ये कहते हैं की भारत में 100 में से 20 % बच्चों को डायबिटीज की बीमारी नहीं है | आखिर ये क्यों और कैसे इस बात की जानकारी लेने के लिए नेशनल खबर की संवाददाता प्रज्ञा झा ने साइंटिस्ट डॉ एस कुमार से मुलाकात की और पूरी जानकारी ली

माम आगे की जानकारियों के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *