Thursday, June 20, 2024
Uncategorized

तुर्की और सीरिया को भयंकर भूकंप ने झकझोरा, 2300 से ज्यादा लोगों की मौत, पीएम मोदी ने हरसंभव मदद का दिया भरोसा

भूकंप सोमवार सुबह के वक्त आया जब लोग सो रहे थे, रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 7.8 आंकी गई है, पड़ोसी देशों में भी भकंप के झटके महसूस किए गए

भारतीय प्रधानमंत्री मोदी ने जताया गहरा दुख, मदद का दिया भरोसा, पड़ोसी देशों में भी महसूस किए गए भूकंप के झटके

ये भयंकर भूकंप यूरोपीय देश तुर्की और सीरिया में सोमवार की सुबह आया, इसकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर 7.8 रिकॉर्ड की गई है। इजरायल, साइप्रस, लेबनान, फिलिस्तीन और मिस्र में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए।
United States Geological Survey के मुताबिक गजियांटेप शहर के पास 11 मील की गहराई पर 7.8 तीव्रता का भूकंप दर्ज किया गया, इसके कुछ घंटे 7.5 तीव्रता का भूकंप कहारनमारस प्रांत के एलबिस्तान जिले में आया। विशेषज्ञों का कहना है कि तुर्की में आया भूकंप अब तक दर्ज किए गए सबसे बड़े भूकंपों में से एक है।

यूरोप के देश तुर्की, जिसे अब तुर्किये के नाम से जाना जाता है को विनाशकारी भूकंप ने बुरी तरह दहला दिया है, सीरिया बॉर्डर के नजदीक दक्षिण पूर्वी तुर्की में भयंकर भूकंप के झटके ने सोए हुए लोगों को हिलने तक का मौका नहीं दिया, एक ही झटके में 1900 से ज्यादा लोगों के मरने और हजारों लोगों के घायल होने की खबर है। सीरिया में भी भूकंप के झटकों से 700 से ज्यादा लोगों के मरने की ख़बर है।

भूकंप से ताश के पत्तों की तरह ढह गई इमारतें
तुर्की और सीरिया में भयंककर भूकंप से कई इमारतें पल झपकते ही ढह गई, कड़ाके की ठंड और बर्फीली हवाओं के बीच मलबे के विशालकाय ढेरों के नीचे प्रभावित लोगों के दबे होने की आशंका के साथ तलाशी अभियान चलाया जा रहा है, तस्वीरें चौंकाने वाली है जहां इमारतें ढह चुकी है, सड़कें नष्ट हो चुकी है। इमारतों में गजियांटेप कैसल भी शामिल है जो एक ऐतिहासिक मील का पत्थर था और दो हजार वर्षों से भी पुराना था

पीएम मोदी ने जताया दुख, भारत ने बढ़ाए मदद के हाथ
तुर्की और सीरिया में आई भूकंप त्रासदी पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गहरा दुख जताया है। पीएम मोदी ने कहा कि तुर्की में भूकंप की वजह से भारी जनहानि और संपत्ति के नुकसान से दुखी हूं, शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। भारत.. तुर्की के लोगों के साथ एकजुटता से खड़ा है और इस त्रासदी से निपटने के लिए हर संभव सहायता देने को तैयार है।
इस बीच, प्रधानमंत्री मोदी के निर्देश के बाद भारत सरकार ने तुर्की को मदद भेजने का फैसला किया है, भारत की तरफ से तुर्की की मदद NDRF और चिकित्सा दल भेजकर की जाएगी और राहत सामग्री भी भेजी जाएगी। ये राहत सामग्री तुर्की सरकार और अंकारा में भारतीय दूतावास और इस्तांबुल में व्यापारिक दूतावास के सामंज्स्य से भेजी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *