Wednesday, May 29, 2024
National

देश में मॉनसून का कहर ,कई राज्यों में रेड अलर्ट जारी

रिपोर्ट :- प्रज्ञा झा

देश में बारिश से हो रही तबाही रुकने का नाम नहीं ले रही है ।प्राकृतिक प्रकोप हर जगह देखने को मिल रहा है। देश के अलग-अलग राज्य काफी ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं। सबसे ज्यादा प्रभावित प्रदेश है :- हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश और असम। चलिए तबाही के आलम को कुछ बिंदुओं से समझते है:-

  1. देश में 3 अगस्त तक बाढ़ से मौत की कुल संख्या 1354 तक पहुंच चुकी थी।
  2. करीबन 4000 से ज्यादा लोगों को अपना घर छोड़ने पर मजबूर होना पड़ा है ।
  3. बाढ़ के कारण सबसे बड़ा नुकसान $58.7 बिलियन का रहा है।
  4. बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए राज्यों में हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश और असम रहा है।
    विस्तार
    कुछ साल पहले जब हम बारिश का जिक्र सुना करते थे ,तो जेहन में हमेशा एक गाना कौंध जाता था “बरसो रे मेघा” या फिर जेहन में एक ख्याल कहीं से झांकने लगता था की क्यों ना बारिश का लुत्फ पकोड़े और चाय के साथ लिया जाए। बड़े-बड़े शहरों में आज भी ऐसा होता है , लोग ऊंची-ऊंची बिल्डिंग में खड़े होकर बारिश के नजारे का मजा लेते है, लेकिन जब यही बारिश अपने रौद्र रूप में आती है , तो अच्छे-अच्छे मकानों, पेड़ पौधे, पहाड़ सभी को अपने साथ बहा ले जाती है प्रकृति कभी भी अपना कोई भी रूप दिखा सकती हैं, यही आजकल हमारे देश में भी हो रहा है पहले गर्मी से परेशान, फिर बारिश ने पूरी तरह से तबाही मचा कर रख दी। देश के विभिन्न हिस्सों में अभी भरी बारिश के चलते बाढ़ आई हुई है। जिसने बड़े , बूढ़े ,या बच्चे , हर इंसान को परेशान कर रखा है, बाढ़ की चपेट में आए कई लोग बेघर हो चुके हैं। जब बाढ़ या भारी बारिश जैसी परिस्थिति उत्पन्न होती है, उस वक्त में सरकार पहले ही अलर्ट कर देती है लेकिन सबसे बड़ी चीज यह है कि अलर्ट के बाद भी लोग कहां जाएं। देश में करोड़ों का नुकसान ,कई मौतें ,खाना – पानी हर चीज बंद यह सारी तकलीफे उत्पन्न होती हैं। हर राज्य में अलग अलग परिस्थिति बनी हुई है।

पंजाब :- पंजाब सरकार रेड अलर्ट जारी करना शुरू कर दिया है, कहा जा रहा है की वहां रवि नदी अपने उफ्फान पर है। पंजाब की खेती पूरी तरह बरबाद हो रही है। लोगों को सुरक्षित जगह ले जाया जा रहा है। ये सारी बातें पंजाब से सामने आ रही है।

राजस्थान :- राजस्थान में प्रिस्थिति काफी ज्यादा खराब हो चुकी है। बाढ़ के चलते स्कूलों को अभी तक बंद रखा गया है। राजस्थान के कोटा, झलवार, बूंदी, बरन सभी जगहों पर पानी भरा हुआ है। निचले भाग में सब सरा बोर है। यहां पर बचाव दल लगातार काम पर लगे हुए है। लोगों को राहत पूछने का काम लगातार जारी है। लोगो को पीने के पानी के लिए वाटर टैंक्स मंगवाने पड़ रहे है। अभी तक के मुताबिक करीबन 3500 लोगो को कोटा छोड़ कर जाने पर मजबूर होना पड़ा है।

हिमाचल प्रदेश:- हिमाचल प्रदेश की परिस्थिति भी कुछ ज्यादा अच्छी नहीं है। भूस्खलन और बदल फटने के चलते करीबन 55 लोगो के मृत्यु की भी पुष्टि की गई है। और 10 लोगों के लापता होने की भी बात कही जा रही है। सुरक्षा कर्मी काफी मेहनत से लोगो को बाहर निकाल रही है।

ओडिशा:- ओडिशा जो पहले से ही बाढ़ के चपेट में डूबा हुआ है। 500 गावों में करीबन 4.5 लाख लोग फेस हुए है। प्रशासन ने अभी तक 6 लोगों के मौत की खबर भी दे दी है। राज्य सरकार ने मयूरभंज , केंद्रपाड़ा और बालासोर में बड़े पैमाने पर निकास अभियान शुरू कर दिया गया है। बाढ़ में महानदी नदी में जा रही एक नव के बह जाने के बाद करीबन 70 लोगों को बचा लिया गया।

झारखंड:- झारखंड के कई जिलों में भरी बारिश के चलते कई पेड़ पर बिजली के खंबे उखड़ गए। नीची स्तर की जमीन जलमग्न हो चुकी है लोगो के घर के चारों पर जाने और अपना समय काटने पर मजबूर कर दिया है। “एनडीआरएफ” और “एसडीआरएफ “के जवानों को काफी ज्यादा मशक्कत करनी पड़ रही है लोगों को नीचे के एरिया से ऊपर लाने का काम किया जा रहा है। झारखंड से अभी 3 लोगो के मरने की खबर भी सामने आई थी।

मुंबई :- मुंबई मैं फिलहाल तो बाढ़ नहीं है लेकिन मौसम विभाग में ऑरेंज अलर्ट जारी करना शुरू कर दिया है जिस तरीके से बारिश का पानी समुद्र के उफान को बढ़ाता जा रहा है उससे कई वाली अटकले लगाई जा रही हैं कि हो सकता है मुंबई के निचले इलाके कुछ दिनों में बाढ़ के कारण डूब जाए कई बार मुंबई से यह तस्वीरें भी आए हैं कि पानी के तेज बहाव में बाइक और कई बड़ी गाड़ियां भी चपेट में आ चुके हैं। सरकार ने वार्ड से बचने के लिए सभी तरीकों को तैयार कर लिया है।

जम्मू कश्मीर:- वैष्णो देवी की यात्रा के लिए फिलहाल सभी रास्ते बंद करा दिए गए हैं जो यात्री वहां गए थे उन्हें मुश्किलों से वापस लाया जा रहा है या अनुमान लगाया जा रहा है कि भारी बारिश के कारण सारे रास्ते बंद होने वाले हैं वहां पर प्रशासन को काफी सारा दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि तीर्थयात्री लगातार वहां पहुंच रहे हैं और लोगों को पहले से ही अलर्ट किया गया है जो लोग वहां पहुंच चुके हैं उन्हें सुरक्षाकर्मी निकालने में जुटे हुए हैं।

ये तो देश के कुछ ही राज्य थे लेकिन ऐसी ही भयावह स्थिति तमिल नाडु, वेस्ट बंगाल और अलग-अलग जगहों पर देखने को मिल रही है। भारी बारिश के चलते काफी ज्यादा नुकसान झेलना पड़ रहा है। देश में कई मौतें हो रही हैं । सरकार अपनी तरफ से पूरी कोशिश में लगी हुई है। लोग बारिश और बाढ़ के कारण परेशान हो चुके है। खाने को खाना नहीं है पीने का पानी नहीं मिल पा रहा है। कुछ एजेंसियों का ये भी कहना है की देश की स्थिति इससे भी भयावह हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *