Wednesday, May 29, 2024
DEVOTIONAL

परिस्थितियां ही इंसान को मजबूत बनती है, इसलिए परिस्थितियों में आगे बढ़ना चाहिए।

रिपोर्ट : ज्योति पटेल, नेशनल धर्म

हर परिस्थितियों में आगे बढ़ना चाहिए जीवन में हर परिस्थिति का सामना करके हमें सीखना चाहिए और आगे बढ़ने का प्रयास करना चाहिए। यह हमारे व्यक्तित्व को मजबूत बनाता है और हमें नई सीमाओं तक पहुँचने में मदद करता है।

कहा जाता है उस इंसान को कभी भी नजर अंदाज नहीं करना चाहिए जो आपसे बेहद प्रेम करता है आपकी केयर करता है क्योंकि एक दिन जब आपकी आंखें खुलेंगे तो आपको एहसास होगा कि आपने तो तारे गिनते गिनते चांद ही को खो दिया और इस नुकसान से पीड़ा का अनुभव होना लाजमी है। आत्मा पर लगी हुई चोट शरीर के चोट से भी ज्यादा गहरी और पीड़ादाई होती है

इंसान तो परिस्थितियों से बंधा हुआ एक पुतला हैं थोड़ी बहुत कमियां होना भी जरूरी है अगर आप इंसान है तो इंसान होना भी जरूरी है यह सच है की पीड़ा आने पर बहुत कम इंसान आपके साथ खड़े रहेंगे लेकिन आप किसी को अच्छे नहीं लगते तो आप उनके सामने अच्छे भी मत बनो क्योंकि आपको पता है आप कितने सही है

परिस्थितियों से आगे बढ़ने से हमें कई लाभ हो सकते हैं। यह हमें मजबूत और सहानुभूति भरे बनाता है, हमारी सक्रियता बढ़ती है और हमें अधिक समस्याओं का समाधान ढूंढने की क्षमता प्राप्त होती है। यह हमें सीखने और विकसित होने का अवसर प्रदान करता है और नई स्थितियों का सामना करने की क्षमता प्रदान करता है। इससे हमारा आत्मविश्वास बढ़ता है और हम अपने लक्ष्यों की दिशा में प्राप्ति करने के लिए तैयार होते हैं।

प्रेरणा का सबसे बड़ा स्रोत आपके अपने विचार और व्यक्तिगत जीवन की गहराई से आता है। समय-समय पर, लोग, पुस्तकें, अनुभव, संगीत, संदेश, और जीवन के विभिन्न पहलु हमें प्रेरित कर सकते हैं। प्रेरणा का स्रोत अक्सर व्यक्तिगत और स्थानीय होता है, और हर व्यक्ति के लिए यह अलग हो सकता हैं

नोट: – आप खुश है अच्छी बात है लेकिन कोई आपकी वजह से खुश रहे ये उससे भी अच्छी बात है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *