Thursday, April 18, 2024
National

मुख़्तार अंसारी की मौत के बाद UP में धारा 144 लागू .

बांदा जेल में कार्डियक अरेस्ट के चलते माफिया मुख़्तार अंसारी की इलाज के दौरान मौत हो गयी। पोस्टमार्टम होने के बाद मुख़्तार के शव को बेटे उम्र अंसारी को सौप दिया जाएगा। जहाँ उसे सुपुर्द-ए- खाक कर दिया जाएगा। अंसारी की मौत के बाद UP के कई इलाके हाई अलर्ट पर हैं।

Written By Pragya Jha , National Khabar

माफिया मुख़्तार अंसारी की गुरुवार को कार्डियक अरेस्ट के चलते बांदा जेल में मौत हो गयी। दरअसल कुछ समय से मुख़्तार अंसारी की तबियत नासाज़ थी। जिसके बाद गुरुवार को कार्डियक अरेस्ट होने के चलते उसे बांदा मेडिकल कॉलेज में इलाज के लिए ले जाया गया। इलाज के दौरान ही मुख़्तार की मौत की खबर सामने आई। फिलाहल बांदा मेडिकल कॉलेज में ही मुख़्तार के शव का पोस्टमार्टम भी किया जाएगा। पोस्टमार्टम के पंचनामे पर परिवार के लोगों और वकील ने हस्तक्षर कर दिए हैं। पोस्टमार्टम होने के बाद शव को बेटे उमर अंसारी को सौंप दिया जाएगा। जिसके बाद शव को सुपुर्द-ए-खाक कर दिया जाएगा। अंसारी की मौत के बाद बांदा , मऊ और गाज़ीपुर सहित कई जिलों में पुलिस हाई अलर्ट पर है। साथ ही कई इलाकों में धरा 144 भी लागु कर दी गयी है।


परिवार वालों का कहना है की इस मौत के पीछे एक गहरी साजिश की गयी है। मुझे पापा ने बताया था की उन्हें स्लो पोइज़न दिया जा रहा है। दरअसल 19 मार्च को मुख़्तार अंसारी ने ये दावा किया की उन्हें रात के कहने में विषाक्त पदार्थों को मिलकर दिया गया। जिसके बाद से उसकी तबियत ख़राब होना शुरू हो गयी। परिवार वाले पहले से ही प्रशासन पर सवाल उठाते हुए नज़र आए हैं और उन्हें मुताबिक मुख़्तार को मारने की साजिश की गया है। परिवार वालों का कहना है की हमे अब न्याय पालिका पर ही भरोसा है। वहीँ दूसरी तरफ मुख़्तार अंसारी के भाई सिबगतुल्लाह अंसारी का कहना है की जेल में कोई भी सुरक्षित नहीं है। मुख़्तार अंसारी के वकील का भी यही कहना है की जो भी कारण है वो पोस्टमार्टम के बाद ही पता चलेगा। फिलाहल गाज़ीपुर के मुहम्मदाबाद के कब्रिस्तान में अंसारी को दफ़नाने की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। मुख़्तार को उसके पीता सुभान अल्लाह अंसारी के बगल में ही दफनाया जाएगा।

मुख़्तार अंसारी के मौत पर कृष्णानंद राय राय की पत्नी की प्रतिक्रिया भी सामने आई है। उन्होंने कहा की हम बहुत खुस हैं। विपक्ष कुछ भी कह सकता है लेकिन वो एक अत्याचारी था, उसका अंत हुआ है। बता दें की कृष्णानंद राय BJP के MLA थे जिनकी हत्या का आरोप 2005 में मुख़्तार अंसारी पर था और ये आरोप सिद्ध होने के बाद मुख़्तार को जेल हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *