Wednesday, May 29, 2024
National

लाल किले से 77वें आज़ादी महोत्सव में प्रधानमंत्री मोदी भाषण की कुछ खास बातें

रिपोर्ट :- प्रज्ञा झा

1- देशवासियों की जगह परिवारजनों शब्द का उपयोग।
2- देश में पुरुषों से ज्यादा महिलाऐं हर क्षेत्र में आगे।
3- विश्वकर्मा दिवस पर करेंगे नए स्कीम को लांच
4- मणिपुर में होगी शांति बहाल
5- भारत आज 10वीं अर्थव्यवस्था से निकल कर 5 अर्थव्यवस्था बन चुकी है
6- महिला सवयं सहायता समूह को मिलेगी उड़ान
7- अगली बार और अधिक विश्वास के साथ स्वतंत्रता दिवस मनाएंगे

देश के 77 वें आज़ादी के महोत्सव में प्रधानमंत्री मोदी ने 10वीं बार लाल किले से देश को सम्बोधित किया है। सम्बोधन के दौरान उन्होंने देश के लोगों को देशवासी नहीं बल्कि परिवारवासियों कह कर सम्बोधित किया। ऐसा प्रधानमंत्री ने 10 साल में पहली बार किया है। बहरहाल अपने पूरे भाषण के दौरान उन्होंने कई चीजों पर लोगों का ध्यान केंद्रित करने की कोशिश की चलिए इन चीजों के बारे में आपको जानकारी देते हैं ।


1- अपने भाषण के शुरुआत में प्रधानमंत्री ने कई महान विभूतियों को नमन किया। पीएम ने महर्षि ऑरोविंदो, दयानन्द सरसवती और मीरा बाई सहित कई लोगों का नाम लिया। उन्होंने कहा की ये वो लोग हैं जिनकी आज़ादी में दी गयी क़ुरबानी को कोई नहीं भूल सकता। पीएम ने आगे कहा की पूजनीय बापू के साथ आज़ादी में जिन लोगों ने त्याग किया , तपस्या की , बलिदान दिया उन सभी को में आदरपूर्वक नमन करता हूँ। उन्होंने आगे कहा की मुझे नहीं लगता की उस पीढ़ी में ऐसा कोई नहीं होगा जिसने बलिदान न किया हो।

2– प्रधानमंत्री भाषण को आगे बढ़ाते हुए कहते हैं की जब कोई मुझसे ये पूछता है की क्या आपके देश में लड़कियां विज्ञान और गणित जैसे विषयों को पढ़ती हैं या नहीं तो मुझे ये बताने में अत्यंत प्रसन्नता होती है की हमारे देश में लड़कियां हर क्षेत्र में लड़कों से आगे हैं। आज हमारे देश में पुरुष पायलट से ज्यादा महिला पायलट्स हैं।

3- इसके बाद प्रधानमंत्री ने विश्वकर्मा जयंती पर विश्वकर्मा स्कीम को लांच करने की बात भी कही। उन्होंने कहा की ये एक ऐसी स्कीम है जो पारंपरिक कुशलता वाले लोगों के लिए लाभदायक होगा। जिसमें सुनार, लोहार, कर्मचारी जैसे अन्य लोग होंगे। इसकी शुरुआत 13 से 15 हज़ार करोड़ रूपए से की जाएगी। उन्होंने कहा की ये स्कीम पारंपरिक कुशलता वाले लोगों के लिया बहुत ही फायदेमंद होगा।

4- आगे अपने भाषण में प्रधानमंत्री मोदी मणिपुर का जिक्र करते हुए भी नज़र आए उन्होंने कहा की मणिपुर आज जिस स्थिति से गुज़र रहा है।वहां महिलाओं के सम्मान के साथ जो खिलवाड़ किया जा रहा है वो दुखद है। लेकिन पिछले कुछ दिनों से शांति की ख़बरें आ रही हैं। पूरा देश मणिपुर के साथ है। शांति से इन सभी चीजों का हल निकाल लिया जाएगा।

5- अपने 10 साल के कार्यकाल में किये गए कार्यों को भी प्रधानमंत्री गिनवा रहे थे साथ ही उन्होंने कहा की आज से कुछ साल पहले अगर हम चले जाएं तो भारत 10वीं अर्थव्यवस्था थी लेकिन आज ये अर्थव्यवस्था विश्व में 5वें स्थान पर आ चुकी है।

6- WSHG यानि महिला स्वयं सहयता समूह को लेकर भी उन्होंने जिक्र किया। उन्होंने कहा की आज देश में महिलाऐं आगे बढ़ रही हैं। शसक्त हो रही हैं। न सिर्फ चिकित्सा,आंगनवाड़ी ,शिक्षा, पायलट, जैसी चीजों में आगे बढ़ रहीं हैं |बल्कि अब वो व्यपार में भी अपने कदम जमाना शुरू कर चुकी है। देश में Women Self help Groups की संख्या बढ़ी है ।

7- अपने भाषण को खत्म करते हुए उन्होंने अपने विरोधियों को ये भी चुनौती दी की अगली बार इससे भी ज्यादा जोश के साथ वो लोगों से फिर मिलेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *