Wednesday, April 17, 2024
National

सीएम अरविन्द केजरीवाल के गिरफ़्तारी से भड़का माहौल, ED के समन को नज़रअंदाज करने के बाद ED का बड़ा एक्शन

मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को मुख्यमंत्री आवास से गिरफ्तार कर लिया गया है। इस गिरफ़्तारी के बाद आम आदमी पार्टी के कार्यकर्त्ता लगातार केजरीवाल के आवास के बहार प्रदर्शन करते हुए नज़र आए। इसके बाद बीजेपी नेताओं का जवाब भी सामने आ रहा है।

Written By: Pragya Jha, National Khabar

ED की टीम ने मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को कथित सरब घोटाले मामले में गिरफ्तार किया जा चूका है। गुरुवार शाम 7 बजे ED की टीम केजरीवाल के आवास पर पहुंची और केजरीवाल से कई घंटों के बाद उनकी गिरफ़्तारी की खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा है की गिरफ्तार करने के बाद ED हेडक्वाटर पर ले जाने के बाद CM केजरीवाल का मेडिकल टेस्ट्स भी कराया जाएगा। कल यानि शुक्रवार को केजरीवाल को Rouse Avenue Court में पैस किया जाएगा इसके बाद ED कोर्ट से रिमांड भी मांग सकती है।

फ़िलहाल केजरीवाल आवास की आस पास पुलिस बल की संख्या काफी बढ़ा दी गई है। आप के कार्यकर्ता लगातार CM आवास के बहार प्रदर्शन करते हुए नज़र आ रहे हैं। इस गिरफ़्तारी के बाद AAP पार्टी की तरफ से अर्जेंट हियरिंग की बात कही जा रही है। साथ ही AAP पार्टी के कुछ नेता रजिस्ट्रार के आवास के बहार भी नज़र आए हैं लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अभी तक केजरीवाल के लीगल टीम की तरफ से अभी तक रजिस्ट्रार से बात नहीं की गई है।


केजरीवाल की गिरफ़्तारी के बाद सोशल मीडिया की जंग भी शुरू हो चुकी है आम आदमी पार्टी के कई नेता अपनी टिप्पणियां इस मामले पर दे रहे हैं।


दिल्ली के मंत्री आतिशी का कहना है की ये चुनाव से पहले जो एक्शन लिया गया है ये राजनितिक एक्शन है क्यूंकि लोकसभा चुनाव के कारण PM नरेंद्र मोदी मुख्यमंत्री केजरीवाल से डरते हैं।


पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान का कहना है की भाजपा की राजनितिक टीम (ED) केजरीवाल की सोच को कैद नहीं कर सकती है। आप ही बीजेपी को रोक सकती है और इस बात से बीजेपी डर रही है। वहीं दूसरी तरफ आप के कार्यकर्ताओं का कहना है की ये तानाशाही है। इन सभी बातों पर बीजेपी द्वारा पलवार भी किया गया है।


उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री का कहना है की बीजेपी अगला चुनाव हरने वाली है और इस दर से ही वो इस तरह के काम कर रही है, ये गिरफ़्तारी गलत है।


वहीं कांग्रेस पार्टी के तरफ से कहा गया है की हम केजरीवाल के साथ हैं। ये गलत है की किसीको इस कदर गिरफ्तार कर लिया जाए रात के 9 बजे कौन रेड करता है।


कुमार विस्वास जो अरविन्द केजरीवाल के अच्छे जानकार हुआ करते थे लेकिन अब उनका कहना है जो जैसा काम करेगा वो वैसे भोगेगा , वहीँ दूसरी तरफ संबित पात्रा का कहना है की बोल पेड़ बबूल का तो आम कहाँ से खाएं।


लगातार इसी तरह की टिप्प्णी भी आती जा रही है और फ़िलहाल देखना ये है की आगे जब अरविन्द केजरीवाल की गिरफ़्तारी हो जाएगी तो दिल्ली की राजनीती कैसे काम करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *