Wednesday, May 29, 2024
National

Air India Express की कर्मचारियों की मांग पूरी न होने के कारण एम्प्लोयी ने लिए मास सिक लीव

Air India की 78 फ्लाइट्स को रद्द किया गया है। कर्मचारियों ने शर्त न पूरी होने पर एक साथ मास सिक लीव लिया है। जबसे टाटा ग्रुप ने Air India को टेकओवर किया है तबसे अलग अलग दिक्कतें सामने आ रही है। तो चलिए जानते हैं की आखिर ये दिक्कतें क्यों सामने आ रही हैं और कर्मचारियों की क्या मांग है?

Written By: Pragya Jha, National Khabar

Air India Express के कर्मचारियों के मास सिक लीव लेने के कारण 78 फ्लाइट्स को कैंसिल करना पड़ा। जिसमें कुछ डोमेस्टिक और कुछ इंटरनेशनल फ्लाइट्स शामिल हैं। लेकिन मास सिक लीव लेने के पीछे क्या कारण है ? तो इसके पीछे का सबसे बड़ा कारण है कर्मचारियों की मांग का पूरा न होना। दरअसल जबसे Tata ग्रुप ने एयर इंडिया की कमान संभाली है तबसे एयर इंडिया काफी सुर्ख़ियों में बना हुआ है। सबसे पहले अच्छा खाना न मिलने की शिकायत और फिर एक पैसेंजर द्वारा दूसरे को पैसेंजर पर पेशाब करने की खबर के सामने आने से एयर इंडिया की काफी खिल्ली उडी थी। इसके बाद अब एम्प्लाइज का मास सिक लीव लेना एयर इंडिया को एक बड़ा झटका लग सकता है।


कर्मचारियों की मांग क्या है ?


कर्मचारियों का कहना हैं की जब Tata ग्रुप द्वारा टेकओवर किया गया था तब ये बात साफ थी की किसीको भी निकला नहीं जाएगा। लेकिन ऐसा नहीं हुआ कई कर्मचरियों को उनके बेहतरीन परफॉरमेंस होने के बाद भी टेकओवर करने के साथ ही हटा दिया गया। फिर हायर रैंक के लिए इंटरव्यू लेने के बावजूद भी लोअर रैंक की पोस्ट दे दी गयी। बाहर से आए हुए नए लोगों को हायर पोजीशन दी गयी और लिस्ट बनाकर कई लोगों को बहार निकल दिया गया। आगे कर्मचारियों की शिकायत है की एयर एशिया के कर्मचारियों को परमानेंट पेरोल पर रखा गया है और एयर इंडिया के लोगों के साथ कॉन्ट्रैक्ट्स किये गए हैं। फिर बात सैलरी पर भी आती है सभी एम्प्लाइज का ये भी कहना है की उनकी सैलरी को भी डिडक्ट किया गया है। जो ट्रैवेलिंग अलाउंस उन्हें मिलता था वो नहीं मिलता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *