Friday, April 12, 2024
National

Budget 2023: बजट में क्या हुआ सस्ता, क्या महंगा यहां जानिए सब

रिपोर्ट: मानसी त्यागी

हम आपके लिए लाए हैं साल की सबसे बड़ी अहम खबर, साल के पहले माह के खत्म होने के साथ ही सरकार की तरफ से हो गया है बजट का बड़ा ऐलान, जिसका संबंध है देश के हर एक नागरिक से। जी हां हम बात कर रहे हैं 2023–24 के बजट की। देश का 2023 का बजट आ चुका है इसके बारे में चारों तरफ लोग बातें कर रहे हैं, सिर्फ इतना ही नहीं चाय की दुकान से लेकर बड़े-बड़े सुपरमार्केट मॉल तक सिर्फ 2023 के बजट की ही चर्चा हो रही है

बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार यानी 1 फरवरी को मोदी सरकार का 11वा बजट पेश कर दिया है। जाहिर सी बात है भाजपा सरकार के द्वारा बजट की खूब प्रशंसा हो रही है वहीं विपक्षी दल कहीं ना कहीं बजट की आलोचना कर रहा है,

चलिए बताते हैं आपको संक्षिप्त में बजट की पूरी जानकारी–

सबसे पहले वित्त मंत्री ने middle-class यानी कि average earning वाली फैमिली को साधते हुए टैक्स पर जोर दिया है– सबसे पहले सरकार ने 2023–24 के बजट में छह स्लैब को हटाकर पांच स्लैब कर दिए हैं और दूसरा बजट में यह कहा गया है कि जिस फैमिली की सालाना कमाई 7 लाख है उन्हें 0% टैक्स देने की जरूरत होगी मतलब कि सात लाख तक की कमाई करने वाले परिवार को कोई भी टैक्स देने की आवश्यकता नहीं होगी इसकी पूरी भरपाई सरकार द्वारा की जाएगी, टैक्स में यह बदलाव मध्यवर्गीय परिवार की जेब को देखते हुए किए गए हैं।

2023 के बजट में पीएम आवास योजना को भी बढ़ावा दिया गया जिसमें आवंटन को 66 फ़ीसदी बढ़ाकर 79 हजार करोड़ किया गया।

देश के हालातों को देखकर वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि अगले 1 साल तक मुफ्त अनाज योजना को कायम रखा जाएगा और इसके लिए 2 लाख करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।

2023 बजट का अगला फोकस आदिवासी छात्रों के लिए था जिसमें आने वाले 3 सालों में आदिवासी छात्रों को समर्थन देने वाले 740 एकलव्य कॉलेजों के लिए 38,800 शिक्षक और कर्मचारी नियुक्त किए जाएंगे।

नए बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जो एक अहम ऐलान किया वह यह है कि अब पैन कार्ड बनेगा सरकारी तौर पर पहचान पत्र।

एजुकेशन को बढ़ावा देते हुए बच्चों और युवाओं के लिए डिजिटल लाइब्रेरी भी स्थापित की जाएगी जिसकी स्टोरेज स्पेस अनलिमिटेड होगी और एक ही किताब को एक ही बार में कई स्टूडेंट एक्सेस कर सकेंगे।

नए बजट के अनुसार ग्रीन एनर्जी के लिए 35000 करोड का आवंटन किया जाएगा और 5जी ऐप और सेवाओं को डिवेलप करने के लिए 100 लैब बनाए जाएंगे।

एग्रीकल्चर और पशुपालन पर ध्यान देते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2023 के बजट में कहा कि कृषि ऋण के लक्ष्य को बढ़ाकर 20 लाख करोड़ रुपए किया जाएगा और साथ ही कृषि से जुड़े सभी स्टार्टअप्स को प्राथमिकता मिलेगी।

सिर्फ इतना ही नहीं वित्त मंत्री ने 2023 के बजट में सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम को भी 15 लाख से बढ़ाकर 30 लाख कर दिया है

बजट मे मेडिकल लाइन और रेलवे लाइन पर भी ध्यान देते हुए बताया गया है कि रेलवे की नई योजनाओं के लिए 75000 करोड रुपए का प्रावधान होगा, कुल मिलाकर रेलवे के लिए 2.4 लाख करोड़ का बजट तय किया गया है साथ ही 2014 से बने मौजूदा 157 मेडिकल कॉलेजों की कोलोकेशन में 157 नए नर्सिंग कॉलेज स्थापित किए जाएंगे।

देश के विकास की उड़ान को कोई ना पकड़ पाए इसीलिए वित्त मंत्री ने 2023 के बजट में शामिल किया है कि देश में 50 एयरपोर्ट बनाए जाएंगे।

चलिए यह तो थी बात कि देश में क्या नई योजनाएं शामिल होने वाली है या फिर कौन सी पुरानी चीजों को अभी तक कायम रखा जाएगा,

तो अब थोड़ा यह भी जान लिया जाए कि कौन सी चीज आने वाले दिनों में सस्ती होगी और कौन सी चीज महंगाई के आसमान को छूने वाली है।

– सस्ती चीजें

पहले बात करते हैं उन चीजों की जो आपकी जेब के आसपास होंगी यानी कि जो सस्ती होने वाली है – खिलौने, साइकिल ऑटोमोबाइल, इलेक्ट्रॉनिक वाहन, LED, लिथियम बैटरी, कुछ मोबाइल फोन और कुछ कैमरा लैंसेज। यह सब चीज है आने वाले दिनों में कम दरों पर मिलने वाली है

– महंगी चीजें

वहीं विदेशी किचन चिमनी, सोना, चांदी, प्लैटिनम, इंपोर्टेड दरवाजे, इंपोर्टेड ज्वेलरी,और सिगरेट छूने वाली है आसमान ,यह सब चीजें होगी महंगी।

नया बजट आने से पहले लोगों को उम्मीद थी कि 2023 का बजट सभी दर्जे ,सभी वर्ग के लोगों को ध्यान में रखते हुए तय किया जाए, तो शायद 2023 का बजट उन लोगों की उम्मीदों पर खरा भी उतरा है।

अब यह सुनना और देखना काफी इंटरेस्टिंग होगा कि किस प्रकार विपक्षी दलों की, आम जनता की या फिर सरकार के ही किसी नेता की अपनी क्या अलग प्रतिक्रिया होती है, क्या वह 2023 के बजट से एग्री करता है या कोई नए मुद्दे उठा लेता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *