Saturday, July 13, 2024
HEALTH

Heart Disease की शुरुआत लक्षण, अनदेखा करना पड़ सकता है सेहत पर भारी

हार्ट डिजीज के कारण व्यक्ति के रोज़ के कामों पर भी काफी प्रभाव पड़ता है। इतना ही नहीं ये जानलेवा साबित हो सकता है इसलिए दिल का ख्याल रखना काफी जरूरी है। कुछ लक्षणों की मदद से आप यह पता लगा सकते हैं कि आपके हार्ट के साथ कोई समस्या है जिससे उसका वक्त रहते इलाज किया जा सकता है। जाने हृदय रोग के लक्षण।

Written By: Shridhi, Edited By: Pragya Jha

हाइलाइट्स

अनहेल्दी डाइट और ख़राब लाइफस्टाइल की वजह से सेहत से हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है

भारीपन, सीने में दर्द,‌ सांस लेने में तकलीफ़, पैरों में सूजन, हृदय रोग के आम लक्षण हैं।

हेल्दी डाइट, एक्सरसाइज और वजन कंट्रोल करने से हृदय से जुड़ी बीमारियों का‌ खतरा काफी बढ़ जाता है।

लाइफस्टाइल डेस्क, हृदय रोग: हमारी लाइफस्टाइल में कई ऐसे बदलाव हुए हैं जो सेहत को काफी प्रभावित करते हैं। इन बदलावों की वज़ह से सबसे ज्यादा प्रभाव हमारे हृदय पर पड़ता है। ख़राब खान-पान और सेडेंटरी लाइफस्टाइल की वजह से ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल और ब्लड शुगर बढ़ सकता है, जिस वजह से हृदय रोग का खतरा काफी बढ़ जाता है। हार्ट डिजीज ऐसी बीमारियों होती है, जो हृदय के किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकते हैं। हृदय की बीमारियों में हार्ट अटैक, कार्डियक अरेस्ट और एरिथमिया काफी आम है हृदय रोग के लक्षण की मदद से उसका जल्द से जल्द पता लगाकर, इलाज करवाया जा सकता है।

क्या है हृदय रोग के लक्षण?

दिल से जुड़ी हर समस्या के अपने अलग लक्षण होते हैं, लेकिन कुछ सामान्य लक्षणों की सहायता से यह अंदाज़ा लगाया जा सकता है, कि हृदय के साथ कोई समस्या है।

1.हार्ट पाल्पीटेशन (धड़कन तेज होना)

2.सांस लेने में तकलीफ़ होना

3. चक्कर आना

4. पसीना आना

5. गर्दन में दर्द होना

6. थकान

7. हार्ट बर्न

8. शरीर के निचले हिस्से में सूजन (खासतौर पर पैरों में सूजन होना)

9. रात को सोने में तकलीफ़ होना

10. मितली या उल्टी आना

11. एक्सरसाइज या कोई हेवी फिजिकल एक्टिविटी करने में तकलीफ़ होना

12. छाती में दबाव महसूस होना या दर्द होना

13. बुखार

क्या है उपचार ?

वजन मेंटेन करें – हेल्दी हृदय के लिए हेल्दी वज़न होना बहुत आवश्यक होता है। वजन ज्यादा होने की वजह से सेहत से जुड़ी कई समस्याएं जैसे – डायबिटीज का खतरा बढ़ना, कोलेस्ट्रॉल बढ़ना आदि। वजन कम करने से कोलेस्ट्रॉल कम करने में काफी हेल्प मिल सकती हैं। इसलिए अगर आपका वजन ज्यादा है, तो वजन कम करने की कोशिश करें।

कोलेस्ट्रॉल कम करें- कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की वजह से कोरोनरी आर्टरी डिजीज का खतरा काफी बढ़ जाता है। जो हार्ट अटैक की सबसे बड़ी वजह है। इसलिए कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए एक्सरसाइज करें और हेल्दी डाइट खाएं।

रोजाना एक्सरसाइज करें- रोज़ थोड़ी देर 30-40 मिनट एक्सरसाइज जरूर करें। एक्सरसाइज करने से हृदय रोग का खतरा कम होता है और हृदय स्वस्थ रहता है। एरोबिक एक्सरसाइज करने से हृदय को स्वस्थ रखने में काफी मदद मिलती है।

सैचुरेटेड फैट्स और प्रोसेस्ड फूड्स कम खाएं – सैचुरेटेड फैट्स और ज्यादा नमक या शुगर की वजह से आर्टरीज से जुड़ी समस्याएं हो सकती है। इसलिए प्रोसेस्ड फूड्स और अनहेल्दी फैट्स की मात्रा कम से कम करें और इनकी जगह अपनी डाइट में ओमेगा- 3 फैटी एसिड्स फाइबर विटामिन और मिनरल को शामिल करें।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *