Wednesday, May 29, 2024
National

Mulayam Singh Yadav Cremation: मुलायम सिंह यादव की आखिरी विदाई में कौन-कौन हुए शामिल

रिपोर्ट: प्रज्ञा झा

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव का 82 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। उनके देहांत की खबर सोमवार सुबह 8:00 बजे गुड़गांव के मेदांता अस्पताल से सामने आई। जिसके बाद बड़ी संख्या में नेता उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि देने पहुंचे ।जिसमें देश के प्रधानमंत्री और देश के गृह मंत्री भी शामिल थे, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मुलायम सिंह यादव को श्रद्धांजलि देने के लिए मेदांता अस्पताल पहुंचे थे। जिसके बाद मंगलवार को उनके पार्थिव शरीर को उनके पैतृक गांव सैफई ले जाया गया ।और वहां पर उनके पुत्र और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा उन्हें मुखाग्नि दी गई। नेताजी की मृत्यु का लोगों पर इतना ज्यादा प्रभाव पड़ा कि कुछ शहरों में तो कई लोगों ने इस खबर को सुनने के बाद आत्महत्या तक करने की कोशिश की ,यह कहकर कि अगर नेता जी हमारे बीच नहीं है, तो मैं जिंदा रह कर क्या करूंगा। जैसे ही नेता जी का पार्थिव शरीर सैफई पहुंचा ,वहां पर लोगों का सैलाब उमड़ आया तकरीबन ढाई लाख लोग भीड़ में खड़े सिर्फ अंतिम दर्शन के लिए संघर्ष कर रहे थे।
बड़ी बड़ी शख्सियत भी लाइन में खड़े होकर इंतजार कर रही थी


सैफई में लोगों की इतनी भीड़ रही थी, की चाहे आम हो या खास लोग उन्हें लाइन में लगकर आखरी दर्शन करने के लिए इंतजार करना पड़ा। हॉस्पिटल में सोमवार को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचे, वहीं देश के गृह मंत्री अमित शाह भी उन्हें अंतिम श्रद्धांजलि देने के लिए पहुंचे थे ।साथ ही उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ और दोनो डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक और केशव प्रसाद मौर्य भी हॉस्पिटल पहुंचे और सैफई भी सुबह ही पहुंच गए थे। और अखिलेश यादव का हाथ अपने हाथों में लेकर उन्हें सांत्वना दी।


अखिलेश के गले लगकर रोए वरुण गांधी
सैफई में सपा सांसद जया प्रदा, अभिनेता अभिषेक बच्चन, उद्योगपति अनिल अंबानी, सुब्रत राय सहारा, भाजपा सांसद वरुण गांधी, राजनेता शरद यादव, छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल व योग गुरु बाबा रामदेव ने भी समाजवादी नेता के अंतिम दर्शन कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। भाजपा सांसद वरुण गांधी अखिलेश के गले लगकर रोए।


भीड़ के कारण हुए लोग बेहोश
मुलायम सिंह यादव के पार्थिव शरीर के आखिरी दर्शन के लिए लोगों की इतनी भीड़ उमड़ पड़ी की उस भीड़ में धक्का-मुक्की हुई कई लोग गिर पड़े और उमस के कारण कई लोग बेहोश भी हो गए ।तत्कालीन उन्हें एंबुलेंस से अस्पताल ले जाया गया। चाहे कोई आम इंसान हो या कोई बड़ा नेता सभी को पंडाल में कतार में खड़ा होना पड़ा आखिरी झलक लेने के लिए और भीड़ में “नेताजी अमर रहे” और “नेता जी जिंदाबाद” जैसे नारे लगाए गए।
अभी तक लाखों की तादात में लोग पहुंचे है


मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अभी तक सैफई में करीब ढाई लाख से ज्यादा लोगों की भीड़ जुट चुकी है । सिर्फ आखरी बार नेताजी के आखरी दर्शन करना चाहते हैं इसी चीज से हम अंदाजा लगा सकते हैं ,कि मुलायम सिंह यादव का क्या रुतबा रहा होगा। अपने समय में और यह रुतबा यह शान आखिरी सांस तक चलती रही और अब नेताजी हमारे बीच नहीं रहे ।इस बात का अफसोस सभी के मन में रहेगा । मुलायम सिंह यादव करीब 3 दशकों से राजनीति मे थे। और 82 साल की उम्र में अब उनका निधन हो चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *