Monday, July 15, 2024
National

जस्टिस यू यू ललित द्वारा लिए गए कुछ बड़े फैसले।

रिपोर्ट: प्रज्ञा झा

27 अगस्त 2022 जब उदय उमेश ललित देश के 49वे मुख्य न्यायधीश बने और उनका कार्यकाल 8 नवंबर 2022 को खत्म हो गया। बस 74 दिन के कार्यकाल के बाद अब उनका कार्यकाल खत्म हो गया जिसके बाद अगले मुख्य न्यायधीश डी वाई चंद्रचूड़ होंगे। सी जे आई ललित के 74 दिन के कार्यकाल में कई मुख्य फैसले लिए गए। जो अपने आप में बहुत महत्व रखता है। मुख्य न्यायधीश यू यू ललित का कार्यकाल बाकी मुख्य न्यायधीशों के कार्यकाल से छोटा था। जिसमे उन्होंने कई ऐतिहासिक फैसले लिए।

  1. EWS कोटा
    सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में संविधान में किए गए 103वे संशोधन को मान्यता दे दी गई। जिसमें कहा गया कि हमारे देश के आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लिए 10% आरक्षण को मंजूरी दी गई है। इसमें सुप्रीम कोर्ट में 5 जजों की बेंच बैठी थी जिसमें यूयू ललित भी शामिल थे और फेशला ३:२ के सहमति से दिया गया। इस फैसले में CJI ललित और रविंद्र भट्ट इस आरक्षण को लेकर असहमत थे। बाकी सभी जज सहमत थे।
  1. Siddique kappan केस
    हाथरस रेप मामले के बाद में हिंसा को भड़काने की साजिश के आरोप में siddique और तीन लोगों को UAPA की धारा तहत गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद siddique को सुप्रीम कोर्ट द्वारा जमानत दे दी गई थी। इस फैसले पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को बदला और कहा की ये एक गंभीर मामला है।

  1. नागरिकता कानून के खिलाफ दायर याचिका
    2019 में नागरिकता कानून के खिलाफ दायर की गई याचिका 232 को लेकर सुनवाई 6 दिसंबर 2022 को सुनवाई होनी थी जिसमे जस्टिस ललित की बेंच ही बैठने वाली थी और साथ में केंद्र सरकार ,असम सरकार भी इस केस में शामिल होंगे। जिसमे पेपर वर्क के लिए 5 हफ्ते लगने थे।
  1. लाइव स्ट्रीमिंग
    20 सितंबर 2022 को जस्टिस ललित की बेंच ने ये फैसला लिया की जितने भी बड़े केसेस की सुनवाई अगर की जाएगी तब उसका प्रसारण लाइव किया जाएगा।
    इसके लिए 2018 में ही दीपक मिश्रा द्वारा फैसला लिया गया था।

  1. तीस्ता सीतलवाड़ रिहाई केस।
    2002 के गुजरात दंगे केस में एक निर्दोष को जेल भेजने के मामले में तीस्ता सीतलवाड़ को रिहा करने का फैसला जस्टिस ललित की बैंच ने ही लिया था।
    इन सभी बड़े फेशलों के बाद अब डी वाई चंद्रचूड़ देश के 50वे मुख्य न्यायधीश बनने वाले है और गुरुवार को राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू की उपस्थिति में डी वाई चंद्रचूड़ अगले जस्टिस बनने की शपथ लेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *