Wednesday, May 29, 2024
National

‘सॉफ्ट हिंदुत्व’ के एजेंडे पर आगे बढ़ रहे हैं अखिलेश

लोहियावादियाँ और अबेडकरवादियों को एक मंच पर लाने की कोशिश में जुटे समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव अब ‘सफ्ट हिंदुत्व’ का संदेश देने में जुट गए हैं।

यूं तो साफ्ट हिंदुत्व’ के एजेंडे को आगे बढ़ाने का निर्णय कोलकाता में हुई पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में ही हो गया था। उस समय भी अखिलेश कोलकाता में कई देवी-देवताओं के मंदिरों में गए थे।


अब फिर सपा ने वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव अभियान की शुरुआत के लिए ‘छोटी काशी’ याने गेला गोकर्णनाथ को चुना है। यहां पर सपा पांच व छह जून को कार्यकताओं का प्रशिक्षण शिविर लगाने जा रही है।

इसमें सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव शामिल होंगे। यहाँ भी अखिलेश पहले प्रसिद्ध शिव मंदिर में पूजा | अर्चना करेंगे। दूसरा प्रशिक्षण शिविर नौ व 10 जून को ऋषियों की तपस्थली नैमिषारण्य में लगेगा।
सपा 2022 का विस चुनाव भले हार गई इसी को ध्यान में रखकर अखिलेश लेकिन 10 प्रतिशत वोट जरूर बढ़ा लिया


6 गोला गोकर्णनाथ व नैमिषारण्य दोन ही तीर्थस्थल पौराणिक है। दोनों ही तीर्थस्थल में हमारी है, इसलिए हमने अपने कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण शिविर के लिए इन स्थानों को चुना है। इसके बाद और भी जगह प्रशिक्षण शिविर लगाए जाएंगे।


राजेन्द्र चौधरी, मुख्य प्रवक्ता समा


भले ही सपा वर्ष 2022 का विधानसभा चुनाव भाजपा से हार गई हो लेकिन उसने अपना 10 प्रतिशत वोट जरूर बढ़ा लिया था। उसे पिछले चुनाव में 32.05 प्रतिशत वोट मिले थे और उसकी 111 सीटें आई थीं। वर्ष 2012 के चुनाव में सपा ने मात्र 29.13 प्रतिशत मत पाकर 224 सीटों पर जीत दर्ज कर सरकार बना ली थी। सपा यह समझ गई है कि भाजपा को हराने के लिए उसे अभी और मतों की जरूरत है इसी को ध्यान में रखकर अखिलेश 2024 की तैयारियों में जुट गए हैं। अखिलेश उन बिरादरों के वोटों को अपने पाले में करने की कोशिश में लगे हैं जी भाजपा सरकार से नाराज हैं। इसके लिए अखिलेश साफ्ट हिंदुत्व का भी कार्ड खेल रहे हैं।


यही वजह है कि सपा ने अपने अभियान को शुरुआत के लिए लखीमपुर खीरी जिले के प्रसिद्ध तीर्थस्थल गोला गोकर्णनाथ को चुना है। यहां पहला प्रशिक्षण शिविर लगाया जाएगा। दूसरा प्रशिक्षण शिविर नैमिषारण्य में नौ और 10 जून की लगेगा। इसमें अखिलेश यादव प्रमुख राष्ट्रीय महासचिव प्रो. रामगोपाल और राष्ट्रीय महासचिव शिवपाल यादव कार्यकर्ताओं को जीत का मंत्र देंगे। करीब पांच हजार पदाधिकारी और कार्यकतों इसमें शामिल होंगे।


प्रशिक्षण शिविर से पहले सपा अध्यक्ष वैदिक मंत्रोच्चार के साथ हवन पूजन करेंगे और ललिता देवी मंदिर जाकर देवी देवताओं से जीत का आशीर्वाद भी लेंगे यानी सफ्ट हिंदुत्व के साथ ही यहां कार्यकर्ताओं को आंबेडकर व डा. लोहिया के विचारों से रूबरू कराया जाएग एक बार फिर दोनों विचारधारा को मानने बालों को एक साथ लाने की कोशिश होगी। प्रशिक्षण शिविर में पार्टी की रणनीति से लेकर मतदाता सूची सत्यापन, मतदाताओं को बूथ तक ले जाने सहित प्रबंधन का मंत्र दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *